MeToo में फंसे उत्तराखंड BJP के वरिष्ठ नेता, महिला ने लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप

मीटू की आग अब उत्तराखंड में भी फैल गई है। बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता पर एक महिला कार्यकर्ता ने ही गंभीर आरोप लगाए हैं।

Uttarakhand bjp leader in me too case - Uttarakhand bjp, uttarakhand me too, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand,अश्लील हरकत,आजीवन सहयोग निधि अभियान,बीजेपी,यौन उत्पीड़न,संगठनउत्तराखंड,, निकाय चुनाव

देशभर में बवाल मचाने के बाद मीटू की आग उत्तराखंड में भी फैल गई है। सत्ताधारी पार्टी बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता पर एक महिला ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। मामले में प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष अजय भट्ट का कहना है कि उन्हें अभी इस बात की जानकारी नहीं है और इसका पता लगाया जा रहा है। दरअसल RSS- BJP से जुड़ी एक महिला कार्यकर्ता ने संगठन के ही एक वरिष्ठ पदाधिकारी पर यौन उत्पीड़न के गंभीर आरोप लगाए हैं। जिन पर आरोप लगाया गया है वो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक रहे हैं और बीजेपी में भी बड़े पद पर हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक महामंत्री संगठन संजय कुमार पर ये आरोप लगा है। पीड़ित महिला ने ये भी बताया कि जिस फोन में यौन उत्पीड़न से जुड़े सबूत थे, वो उनसे छीन लिया गया है। इसके बाद भी पीड़ित महिला दावा कर रही हैं कि उनके पास और भी सबूत मौजूद हैं।

यह भी पढें - उत्तराखंड निकाय चुनाव: भाषण देते-देते उतरी नेता जी की पैंट... देखिये विडियो
पीड़ित का कहना है कि वो पुलिस के पास गई, पार्टी के ही कई जिम्मेदार पदाधिकारियों के पास गई लेकिन बार बार शिकायत करने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। पीड़िता का कहना है कि वो आरोपी वरिष्ठ पदाधिकारी से उस दौरान संपर्क में आई जब उन्हें आजीवन सहयोग निधि अभियान के दौरान चेकों की एंट्री करने के लिए प्रदेश बीजेपी ऑफिस में भेजा गया। उस दौरान आरोपी नेता उनसे फोन पर बार बार बातें करते थे। पीड़ित महिला कार्यकर्ता का आरोप है कि वरिष्ठ पदाधिकारी ने उन्हें कुछ आपत्तिजनक चीजें भी भेजी और अश्लील बातें भी की। यहां तक कि महिला के साथ अश्लील हरकत भी की गई। इसके बाद पीड़ित महिला ने पार्टी के कई लोगों से इस बारे में शिकायत की गई लेकिन हर किसी ने उनसे इस बारे में सबूत मांगे।

यह भी पढें - देवभूमि में नशे की गिरफ्त में नाबालिग बच्चे, स्मैक के नशे में बेसुध मिली दो किशोरियां
महिला ने आगे बताया कि ‘मजबूर होकर मैंने पदाधिकारी की आडियो-वीडियो कॉल रिकार्डिंग की। इसे जब पार्टी के अलग अलग स्तर पर लोगों को दिखाया, तो कार्रवाई के बजाय इसकी शिकायत आरोपी से की गई’। इसके बाद महिला को धोखे से महिला मोर्चा की एक पदाधिकारी के घर बुलाया गया और मोबाइल छीना गया। खबर है कि जिस नेता पर ये आरोप लगा है, वो संगठन में कई विवादों में भी रह चुके हैं। कुछ साल पहले वो प्रदेश संगठन में भी अहम जिम्मेदारी निभा चुके हैं। प्रचारक के तौर पर वो हरिद्वार समेत प्रदेश के कई जिलों में काम कर चुके हैं। अब देखना ये है कि आगे इस मामले में क्या होता है। फिलहाल इतना जरूर है कि इस खबर के बाद से प्रदेश बीजेपी में खलबली मची है।


Uttarakhand News: Uttarakhand bjp leader in me too case

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें