देवभूमि में नशे की गिरफ्त में नाबालिग बच्चे, स्मैक के नशे में बेसुध मिली दो किशोरियां

इस खबर के बारे में सोचकर ही हैरानी होती है। क्या उत्तराखंड में नाबालिग बच्चे नशे की गिरफ्त में इस कदर आ गए हैं ?

Teen age taking drugs in uttarakhand - Uttarakhand drugs, uttarakhand youth, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand,गिरफ्तार,देवभूमि,नंदन सिंह रावत,मोहम्मद यूनुस,हीरानगरउत्तराखंड,, केदारनाथ फिल्म

नशा..पैसा, रिश्ते, शांति और जिंदगी तबाह कर देने वाला ये ज़हर देवभूमि उत्तराखंड में बुरी तरह से फैल रहा है। ये नशा किस कदर बच्चों के सिर चढ़कर बोल रहा है, इसकी एक बानगी हल्द्वानी में देखने को मिली है। हल्दवानी के बिठौरिया इलाके में पुलिस ने जब ये नज़ारा देखा, तो खुद भी हैरान रह गई। खेत में दो नाबालिग लड़कियां और दो लड़के स्मैक का नशा कर रहे थे। दरअसल मुखानी एसओ नंदन सिंह रावत दोपहर को करीब 1 बजे गश्त पर निकले थे। इस दौरान बिठौरिया में वो सकपका गए। सड़क के किनारे लावारिस बाइक खड़ी थी। एसओ नंदन सिंह रावत और उनकी टीम ने सड़क किनारे खेतों पर नज़र दौड़ाई। सौ मीटर तक आगे गए तो ये नज़ारा देखकर हैरान रह गए। 16-17 साल के बच्चे और बच्चियां स्मैक का नशा कर रहे थे।

यह भी पढें - केदारनाथ फिल्म के विरोध में उतरा विश्व हिंदू परिषद, उत्तराखंड समेत देशभर से उठे सवाल
इस बीच एक लड़के ने पुलिस को देखा तो मौके से भाग खड़ा हो गया। हालांकि पुलिस ने बाइक और तीनों को पकड़ा और थाने ले आए। इसके बाद की कहानी और भी ज्यादा हैरान करती है। तीनों के परिजनों को थाने बुलाया गया। पूछताछ की तो पता चला कि तीनों ने नौ-दस तक ही पढ़ाई की और उसके बाद स्कूल छोड़ दिया। उसके बाद से वो बुरी तरह नशे की गिरफ्त में आ चुके हैं। सवाल ये है कि क्या देवभूमि में छोटे छोटे स्कूल जाने वाले बच्चों के सिर पर शिक्षा की जगह नशा हावी हो गया है? पुलिस द्वारा बताया गया है कि पकड़ी गई एक लड़की हीरानगर की रहने वाली है। उस लड़की के माता-पिता की मौत हो चुकी है। दूसरी लड़की वैलेजली लॉज से है। लड़का चौपुला का रहने वाला है। जो लड़का फरार हुआ उसकी बाइक सीज़ कर दी गई है।

यह भी पढें - चमोली जिले में दहशत का माहौल, मां की गोद में बैठी बेटी पर झपटा भालू
अब सवाल ये है कि आखिर बच्चों के दिमाग में नशे का ज़ह कौन भर रहा है ? उधर बनभूलपुरा थाना पुलिस ने स्मैक तस्करी के आरोप में एक शख्स को अरेस्ट किया है। शख्स का नाम मोहम्मद यूनुस बताया जा रहा है। उसके कब्जे से साढ़े तीन ग्राम स्मैक और सिल्वर पेपर जब्त किया गया है। एसओ दिनेश नाथ महंत का कहना है कि एसआइ संजीत कुमार राठौड़ ने मुखबिर की सूचना पर नई बस्ती इलाके में छापा मारा। यहां से मोहम्मद युनुस को गिरफ्तार किया। बताया जा रहा है कि मोहम्मद यूनुस बहेड़ी और बरेली से स्मैक लाने के बाद इसे यहां फुटकर बेचता था। युनुस के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है और उसे जेल भेज दिया गया है। फिलहाल इतना ज़रूर है कि ऐसे नशे के सौदागरों की वजह से देवभूमि में बचपन बर्बाद हो गया है।


Uttarakhand News: Teen age taking drugs in uttarakhand

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें