देहरादून में हाईप्रोफाइल डकैती का पर्दाफाश, BSF का बर्खास्त अफसर ही निकला मास्टरमाइंड

लुटेरों ने पहले बिल्डर राकेश बत्रा के घर में डाका डालने की योजना बनाई थी, पर नाकामी हाथ लगी, जिसके बाद उन्होंने आरपी ईश्वर को शिकार बनाया...पढ़िए पूरी क्राइम स्टोरी

60 million robbed in Dehradun, exposed by police - Crime, abhimanyu cricket academy, ssp arun mohan joshi, Dehradun, Uttarakhand,  आरपी ईश्वरन, अभिमन्यु ईश्वरन, अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी, देहरादून, उत्तराखंड पुलिस, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

देहरादून में अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी के मालिक आरपी ईश्वरन की कोठी में लाखों की डकैती को अंजाम देने वाले आरोपी पकड़े गए। गिरफ्तार आरोपियों में से एक बीएसएफ का बर्खास्त डिप्टी कमांडेंट है, गिरोह का सरगना वही है। पुलिस ने लूट के मामले में कुल पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जिनके पास से 11 लाख 70 हजार की नकदी और जेवर बरामद किए गए। तीन आरोपी अब भी फरार हैं, पुलिस ने फरार आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लेने का दावा किया। बंगाल क्रिकेट टीम के कप्तान अभिमन्यु ईश्वरन के पिता और अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी के मालिक आरपी ईश्वरन की कोठी में हुई लाखों की डकैती का पुलिस ने मंगलवार को खुलासा कर दिया। पुलिस आरोपियों तक कैसे पहुंची ये भी बताते हैं, पुलिस टीम दिन रात इस केस को सुलझाने की कोशिश में जुटी थी। सबसे पहले पुलिस ने घटना में इस्तेमाल शेवरले बीट कार के आधार पर अदनान, निवासी सदर बाजार नई दिल्ली को गिरफ्तार किया। अदनान के पूछताछ के बाद पुलिस ने मुख्य आरोपी वीरेंद्र ठाकुर को भी दबोच लिया। पुलिस ने उसे दिल्ली के पहाड़गंज से पकड़ा।

यह भी पढ़ें - टिहरी झील का जलस्तर खतरे के निशान के पास पहुंचा, स्थानीय लोगों की परेशानी बढ़ी
गिरफ्तारी के वक्त वीरेंद्र ठाकुर पत्नी और बेटी के साथ कार से फरार होने की फिराक में था। डकैती का मास्टर माइंड वीरेंद्र ठाकुर ही है। वो बीएसएफ से बर्खास्त डिप्टी कमांडेंट है। बाद में रायपुर के आजाद नगर निवासी सैलून संचालक मुजिब्बुर रहमान उर्फ पीरू, फुरकान निवासी अलावलपुर हरिद्वार और फईम निवासी रघुबीर नगर नई दिल्ली भी पकड़े गए। डकैतों के गैंग ने पूछताछ में कई खुलासे किए। आरोपियों ने बताया कि वो पहले बीजेपी विधायक उमेश शर्मा काऊ के नाम का सहारा लेकर बिल्डर राकेश बत्रा के घर में डाका डालने आए थे, पर नाकामी मिलने पर उन्होंने ईश्वरन के परिवार को निशाना बनाया। एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि आरोपियों ने कोठी से लूटे जेवर 33 लाख रुपये में बेचे थे, जो रुपये मिले सभी आरोपियों ने आपस में बांट लिए। आरोपियों के पास से 11 लाख 69 हजार की नकदी और काफी माल बरामद हो गया है। हैदर, मिश्रा और फिरोज नाम के आरोपी फरार हैं, उन्हें भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। आपको बता दें कि बीते 22 सितंबर को हथियारबंद बदमाशों ने अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी के मालिक के घर धावा बोल कर 60 लाख से अधिक की संपत्ति लूट ली थी। आठ दिन के भीतर ही पुलिस ने मामले का खुलासा कर दिया, पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार रतूड़ी ने पुलिस टीम को बीस हजार और आरपी ईश्वरन ने एक लाख 51 हजार रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की है।


Uttarakhand News: 60 million robbed in Dehradun, exposed by police

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें