देहरादून में 9 साल का बच्चा चला रहा था ई-रिक्शा, 25 हजार रुपये का चालान कटा

देहरादून में 9 साल के बच्चे को परिवहन विभाग की टीम ने ई-रिक्शा चलाते पकड़ा, चालान काटने के साथ ही ई-रिक्शा सीज कर दिया गया है...

Transport department  teams chalan nine year old boy for driving e-rickshaw - Transport department Uttarakhand, e-rickshaw, New mv act, Dehradun, motor vehicle act, परिवहन विभाग, आरटीओ, उत्तराखंड न्यूज, देहरादून, मसूरी, मोटर व्हीकल एक्ट, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

देहरादून में बेलगाम दौड़ते ई-रिक्शा मुसीबत का सबब बन गए हैं। शहर को प्रदूषणमुक्त बनाने के लिए दून में ई-रिक्शा संचालन की शुरुआत हुई थी, इससे प्रदूषण का स्तर तो कम नहीं हुआ, हां अवैध ई-रिक्शे मुसीबत जरूर बन गए हैं। ई-रिक्शा संचालक किस कदर नियमों को ताक पर रख रहे हैं, इसका एक नजारा हाल ही में देखने को मिला। जब परिवहन विभाग की टीम ने एक 9 साल के बच्चे को ई-रिक्शा चलाते पकड़ा। अब बच्चा तो बच्चा है, उसे ना तो नियम-कानूनों की जानकारी है, ना ही इनकी परवाह। बच्चा देहरादून की सड़कों पर मजे से ई-रिक्शा चला रहा था। परिवहन विभाग ने ई-रिक्शा को सीज कर दिया है। 25 हजार रुपये का चालान भी काटा है। सच कहें तो सड़कों पर बेलगाम दौड़ते ई-रिक्शा शहर के लिए मुसीबत बन गए हैं। कई ई-रिक्शा बिना लाइसेंस चल रहे हैं, तो कई ई-रिक्शा संचालकों ने नाबालिगों को ई-रिक्शा थमा दिए हैं।

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड में एशिया का सबसे लंबा पुल, फाइनल होने वाला है काम...जानिए हाईटेक खूबियां
शुक्रवार को भी ऐसा ही हुआ। परिवहन विभाग की टीम राजपुर रोड और मसूरी के आसपास चेकिंग अभियान चला रही थी। इस दौरान 5 गाड़ियां सीज की गईं, 60 वाहनों के चालान कटे। चेकिंग के दौरान टीम ने एक ई-रिक्शा को रोका। इस ई-रिक्शा को एक बच्चा चला रहा था। पूछताछ में पता चला कि बच्चे की उम्र सिर्फ 9 साल है, वो कक्षा 4 में पढ़ता है। ई-रिक्शे में तीन सवारियां बैठी थीं। अब आप खुद सोच लीजिए यात्रियों की सुरक्षा के साथ कैसा मजाक किया जा रहा है। नए एमवी एक्ट के तहत नाबालिग के ई-रिक्शा संचालन के चालान का ये पहला मामला है। नए एक्ट के तहत जुर्माने के साथ-साथ बच्चे के अभिभावक को 3 साल की सजा भी हो सकती है। परिवहन विभाग ने कार्रवाई करने के साथ-साथ केस को जुवेनाइल कोर्ट भेजा है।


Uttarakhand News: Transport department teams chalan nine year old boy for driving e-rickshaw

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें