उत्तराखंड को 18 साल बाद मिली खुशखबरी, योगी-त्रिवेंद्र के बीच हुआ ऐतिहासिक करार !

उत्तराखंड के बनने के 18 साल बाद एक ऐतिहासिक करार हुआ है। कई सालों से परिवहन निगम को इस बात का इंतजार था, आखिरकार वो काम हो गया।

Mou between up and uttarakhand - योगी आदित्यनाथ, त्रिवेन्द्र सिंह रावत, योगी-त्रिवेन्द्र, बीजेपी, BJP, बीजेपी उत्तराखंड, BJP Uttarakhand, Uttarakhand news

18 साल से उत्तराखंड इस बात का इंतजार कर रहा था और आखिरकार ये काम हो गया। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के बीच एक ऐतिहासिक दस्तावेज पर हस्ताक्षर हो गए। अब यूपी और उत्तराखंड के बीच लंबे समय से परिवहन निगम में चला आ रहा विवाद भी खत्म हो गया। राजस्थान और हरियाणा के बाद अब यूपी और उत्तराखंड के बीच भी परिवहन निगम की बसों के संचालन का रास्ता साफ हो गया है। अब यूपी परिवहन निगम की बसें उत्तराखंड के 216 मार्गों पर 1,39, 071 किलोमीटर तक चलेंगी। इसके अलावा उत्तराखंड परिवहन निगम की बसों का यूपी के 335 मार्गों पर 2,52,592 किमी तक संचालन किया जाएगा। आप साधारण, एसी, वोल्वो और स्कैनिया ..किसी भी बस में सफर कर सकते हैं।

यह भी पढें - सुनिए..श्रीनगर NIT के छात्रों को केंद्रीय मंत्री का संदेश, सांसद बलूनी का जबरदस्त काम
इस समझौते के बाद अब यूपी की राजधानी लखनऊ, बहराइच, अयोध्या, आगरा, वाराणसी, मथुरा, प्रयागराज, मुरादाबाद, सहारनपुर, मेरठ, बरेली, कानपुर के अलावा वृंदावन भी उत्तराखंड परिवहन की सेवा से जुड़ जाएंगे। इसके अलावा यूपी परिवहन से उत्तराखंड के देहरादून, हरिद्वार, ऋषिकेश, हल्द्वानी, कोटद्वार, काठगोदाम,नैनीताल, काशीपुर,रामनगर, टनकपुर, ऊधमसिंह नगर जैसी जगहें जुड़ जाएगी। इस बीच यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि इस समझौते से आम लोगों को दोनों राज्यों में आने-जाने की सुगम यातायात व्यवस्था उपलब्ध होगी। योगी ने कहा कि दोनों राज्यों के बीच कई ऐसे मसले हैं, जो डेढ़ साल में सुलझाए गए हैं। कुछ मसले अभी बाकी हैं, जिन्हें जल्द सुलझा लिया जाएगा। इस करार के बाद इसका सीधा लाभ लाखों यात्रियों को मिलेगा।

यह भी पढें - अपने 600 कर्मचारियों को कार गिफ्ट देगा ये कारोबारी, दिवाली पर बंपर बोनस का ऐलान
अभी तक दोनों प्रदेशों के बीच बसों के फेरे कम थे। इसकी वजह से यात्रियों को ट्रेन का ज्यादा इस्तेमाल करना पड़ता था। उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड परिवहन निगम के बीच करार से दोनों राज्यों के बीच लोगों की आवाजाही बढ़ेगी। इसके साथ ही निगम की आमदनी में भी इजाफा होगा। उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भी इस बारे में बड़ी खुशखबरी अपने फेसबुक पेज से दी है। आप भी देखिए।

उत्तराखंड के इतिहास में पहली बार यूपी और उत्तराखंड के बीच ऐतिहासिक परिवहन समझौता किया गया। समझौते से दोनों राज्यों की...

Posted by Trivendra Singh Rawat on Monday, October 29, 2018


Uttarakhand News: Mou between up and uttarakhand

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें