DM मंगेश घिल्डियाल का हाईटेक काम, स्कूलों में छात्रों के लिए बनेंगे साउंडप्रूफ क्लासरूम

कहते हैं कि किसी भी काम को करने के लिए एक सोच होनी चाहिए और वो ही सोच समाज के लिए एक रास्ता बन सकती है। डीएम मंगेश घिल्डियाल की ये सोच भी कमाल की है।

Soundproof classroom to develop in rudraptrayag district - mangesh ghildiyal, rudraprayag dm, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand,केदारघाटी,केदारनाथ,डीएम मंगेश घिल्डियाल,नारायणकोटी,मंगेश घिल्डियालउत्तराखंड,

उत्तराखंड के सिंघम कहे जाने रुद्रप्रयाग के डीएम मंगेश घिल्डियाल ने इस बार स्कूली बच्चों को तोहफा दिया है। ये सौगात इन बच्चों के लिए काफी खास है, क्योंकि अब ये बिना किसी परेशानी के अपनी पढ़ाई कर सकेंगे। अगर आप सोच रहे है किसी योजना के तहत बच्चों को आर्थिक मदद पहुंचायी जाने वाली है तो ऐसा बिलकुल नहीं है। इस बार डीएम मंगेश घिल्डियाल की पहल का नतीजा है कि बच्चे सुकून के साथ स्कूल में अपनी पढ़ाई कर सकेंगे। दरअसल बाबा केदारनाथ के दर्शनों के लिए आने वाले कई भक्त केदारघाटी हवाई सेवा के जरिए जाते है। जिसकी वजह से स्कूलों के उपर से लगातार हेलीकॉप्टरों के गुजरने की वजह से होने वाले शोर में बच्चों की पढ़ाई बार बार बाधित हो रही थी। लेकिन अब डीएम मंगेश घिल्डियाल की कोशिशों के बाद स्कूलों में साऊंड प्रूफ कमरों का तोहफा मिलने जा रहा है।

यह भी पढें - केबीसी में शामिल हुई देवभूमि की जांबाज़ बेटियां, शहीदों के परिवारों को दी जीती हुई रकम
बता दें कि केदारनाथ धाम के लिए पवन हंस हवाई कंपनी और प्रभातम कंपनी भी हवाई सेवा दे रही है। लेकिन साल 2012 से बाबा केदारनाथ के दर्शनों के लिए पहुंचने वाले लोगों के बीच हवाई सेवाओं का क्रेज बढ़ा है। खासकर केदारनाथ आपदा के बाद से तो हवाई सेवाओं की बाढ़ सी आ गई। केदारनाथ यात्रा के दौरान गुप्तकाशी, फाटा, सोनप्रयाग, शेरसी, नाला, नारायणकोटी समेत कई स्थानों पर हवाई सेवाएं दी जा रही है। इन सब के बीच स्थानीय लोगों खासकर स्कूली बच्चों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। लेकिन डीएम मंगेश घिल्डियाल ने बच्चों की इस परेशानी को गंभीरता से लिया और हवाई कंपनियों के साथ बैठक कर सीआरएस मद से संबंधित स्कूलों में दो-दो कमरे साउंडप्रूफ बनाने को कहा था। इस पहल का असर देखने को मिला है।

यह भी पढें - उत्तराखंड का पहला एरोमा पार्क 500 करोड़ में बनेगा, हजारों युवाओं को रोजगार
हवाई सेवा कंपनियों ने भी डीएम की बात का समर्थन करते हुए ऐसे भवनों के निर्माण के लिए हामी भरी। जिसका नतीजा है कि ऐरो एविएशन ने खाट, आर्यन एविएशन ने नारायणकोटी, ग्लोबल एविऐशन ने सोनप्रयाग और हिमालयन एविऐशन ने सेरसी में दो-दो स्कूलों में साउंड प्रूफ कमरों का निर्माण पूरा कर लिया है। जबकि हेरिटेज और पवन हंस एविएशन की ओर से दो-दो स्कूलों में निर्माण का काम जारी है। डीएम मंगेश घिल्डियाल की इस पहल के बाद रुद्रप्रयाग के स्कूलों के उपर से हेलीकॉप्टर जरुर गुजरेंगे लेकिन इनका शोर बच्चों की पढ़ार्इ को प्रभावित नहीं कर सकेंगे। साउंडप्रूफ कमरों का निर्माण कराने के फैसले ने एक बार फिर डीएम मंगेश घिल्डियाल को जिले का विकास पुरुष साबित किया है।


Uttarakhand News: Soundproof classroom to develop in rudraptrayag district

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें