उत्तराखंड में रुद्रप्रयाग जिले में हड़कंप, पूर्व फौजी ने लाइसेंसी बंदूक से खुद को गोली मारी

उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में पूर्व फौजी ने खुदकुशी कर ली। इस घटना के बाद से पूरे जिले में हड़कंप मचा हुआ है।

retaired fauji suicide in rudraprayag - rudraprayag, uttarakhand crime, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand,शवयात्रा,पोस्टमार्टम,नवोदय विद्यालयउत्तराखंड,

रुद्रप्रयाग के गुप्तकाशी में उस वक्त लोग सकते में आ गए जब एक रिटायर्ड फौजी द्वारा आत्महत्या की खबर सामने आई। मामला गुप्तकाशी के तल्ला मैखंडा गांव का है जहां शनिवार की सुबह करीब आठ बजे पूर्व फौजी ने खुद को गोली मारकर खुदखुशी कर ली। बताया जा रहा है कि चार साल पहले रिटायर हुए फौजी संत लाल ने अपनी लाइसेंसी बंदूक से खुद को गोली मार दी। गोली कनपटी पर मारने की वजह से उनकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना के वक्त पूरा परिवार घर में मौजूद था। मृतक संत लाल की पत्नी के मुताबिक किचन में काम करने के दौरान उन्होंने संत लाल के कमरे से गोली चलने की आवाज सुनी। जिसके बाद वह और उनके बच्चे तेजी से ऊपर वाले कमरे में पहुंचे, जहां कमरे के दरवाजे के पास मृत हालत में पड़े हुए थे।

यह भी पढें - उत्तराखंड में छात्रा से स्कूल वैन में रेप..दर्द से तड़पती रही बच्ची, मामला दबाता रहा स्कूल!
गोली की आवाज सुनकर कई ग्रामीण भी मौके पर पहुंच गए। वही उस वक्त गमगीन माहौल में तनाव पैदा हो गया जब घटना के बाद परिजन और ग्रामीण पूर्व फौजी के शव अंतिम संस्कार के लिए ले जा रहे थे, लेकिन इस बीच सूचना पर मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी राजेंद्र रौतेला पुलिस फोर्स के साथ शवयात्रा में पहुंचे और उन्होंने शव को अपने कब्जे में ले लिया। जिसके बाद दोबार रिटायर्ड फौजी का शव उनके घर लाया गया। जहां पुलिस ने परिवार के लोगों से पूछताछ की। और घटनास्थल का जायजा लिया। इस दौरान पुलिस ने घर से लाइसेंसी डबल बैरल की बंदूक और खोखा भी कब्जे में ले लिया। पुलिस ने पंचनामा भरने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। फिलहाल पुलिस मामले की हर एंगल से जांच कर रही है।

यह भी पढें - उत्तराखंड-हिमाचल सीमा पर भयानक हादसा..खाई में गिरी गाड़ी, 13 लोगों की दर्दनाक मौत
परिवार के मुताबिक 43 साल के संत लाल घटना के वक्त कमरे में अकेला थे। उसकी पत्नी और बच्चे कीचन में थे। मृतक संतलाल के पास उनकी लाइसेंसी जबल बैरल की बंदूक थी। एक दिन पहले ही उन्होंने तबीयत ठीक नहीं होने की बात कही थी जिसके बाद से वो अपने कमरे में थे। वही थाना प्रभारी राजेंद्र रौतेला ने बताया कि संत लाल सेना से चार साल पहले रिटायर हुए थे। उसके तीन बेटे हैं, जिसमें एक नवोदय विद्यालय में पढ़ता है। घटना से एक रात पहले उन्होंने अपनी पत्नी से सीने में दर्द होने की शिकायत की थी। इसके बाद उसकी पत्नी और दोनों बच्चों से कोई बात नहीं हुई। वह ऊपरी कमरे में अकेले थे। रौतेला ने बताया कि मामले में सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर जांच शुरू कर दी गई है। देखना है कि इस मामले में आगे क्या होता है।


Uttarakhand News: retaired fauji suicide in rudraprayag

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें