केदारनाथ धाम की तरह संवरेगा बदरीनाथ धाम, 39.23 करोड़ के प्रोजक्ट को मिली हरी झंडी

उत्तराखंड में मौजूद बदरीनाथ धाम पर करोड़ों लोगों की आस्था जुड़ी हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने 39.23 करोड़ की योजना को मंजूरी दे दी है।

development work in badrinath temple - badrinath temple, kedarnath temple, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand,केंद्र सरकार,दिलीप जावलकर,बदरीनाथ,राज्य सरकारउत्तराखंड,

उत्तराखंड को देवभूमि यूं ही नहीं कहा जाता। इस देवभूमि से करोड़ों लोगों की आस्था जुड़ी हुई है। ये बाद केंद्र सरकार भी भली भांति जानती है। अब केंद्र की मोदी सरकार ने बदरीनाथ में तीर्थयात्रियों की सुविधा को देखते हुए 39.23 करोड़ की योजना को हरी झंडी दे दी है। इससे बदरीनाथ धाम में केदारनाथ धाम की तरह आधारभूत ढांचे का विकास होगा। केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय की तरफ से इसके लिए पहली किश्त की जारी कर दी गई है। पहली किश्त 11.79 करोड़ रुपये की है। इसे लेकर राज्य सरकार की तरफ से ही प्रस्ताव भेजा गया था। केंद्र सरकार ने प्रसाद योजना के तहत 39.23 करोड़ की योजना को हरी झंडी दे दी है। आपको बता दें कि पीएम मोदी के साथ साथ केंद्र सरकार में कई मंत्री ऐसे हैं, जिनकी बदरीनाथ धाम को लेकर अटूट आस्था है।

यह भी पढें - देवभूमि की ‘लेडी सिंघम’ ने रचा इतिहास , UKPSC परीक्षा में टॉपर बनी..बधाई दें
यह भी पढें - केबीसी में शामिल हुई देवभूमि की जांबाज़ बेटियां, शहीदों के परिवारों को दी जीती हुई रकम
पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने इस बारे में कुछ खास बातें बताई हैं। उनका कहना है कि केंद्र सरकार ने इसे मंजूरी दे दी है और पहली किश्त की राशि भी अवमुक्त कर दी है। दरअसल बदरीनाथ और केदारनाथ धाम में विकास कार्यों को तेज़ी देने के लिए कई योजनाएं तैयार की जा रही हैं। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज का कहना है कि इससे स्थानीय लोगों को रोजगार भी मिल रहा है। इन यात्रा मार्गों पर ग्रामीण क्षेत्रों के विकास के लिए होम स्टे योजना को लगातार प्रोत्साहित किया जा रहा है। सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर ने मीडिया को जानकारी दी है कि बदरीनाथ धाम में प्रस्तावित योजना के लिए टेंडर प्रक्रिया भी पूरी कर दी गई है। सभी दस्तावेज केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय को मुहैया करा दिए गए हैं। कुल मिलाकर कहें तो जल्द ही बदरीनाथ धाम नए अंदाज में नज़र आएगा।


Uttarakhand News: development work in badrinath temple

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें