उत्तराखंड: 9 हजार रुपये में खरीदी थी बाइक, 10 हजार रुपये का कटा चालान

पौड़ी में पुलिस ने 9 हजार रुपये में खरीदी गई बाइक का 10 हजार का चालान काट दिया, पीड़ित बुजुर्ग अब आरटीओ के चक्कर काट रहा है...

Police cuts the challan of 10 thousand rupees to a milkman in pauri - new motor vehicle act, Rto, Rto awareness program, Uttarakhand, pauri Garhwal,  एमवी एक्ट, आरटीओ, परिवहन विभाग, उत्तराखंड, पौड़ी गढ़वाल, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

जब से नया एमवी एक्ट लागू हुआ है, तब से चालान कटने के ऐसे अजब-गजब किस्से सामने आ रहे हैं कि पूछिए मत। भारी जुर्माने से त्रस्त लोगों को पुलिसवाले सबसे बड़े दुश्मन लगने लगे हैं। अब पौड़ी में ही देख लें, जहां पुलिस ने दूध बेचने वाले बुजुर्ग को दस हजार का चालान थमा दिया। जिस बाइक का चालान कटा है, उसे बुजुर्ग ने 9 हजार रुपये में खरीदा था। बाइक खरीदे हुए 10 महीने ही हुए थे कि लेने के देने पड़ गए। पीड़ित बुजुर्ग का नाम है मदनमोहन नौटियाल, जो कि चौवथ गांव के रहने वाले हैं। मदनमोहन दूध बेचकर हर महीने 7 हजार रुपये तक कमा लेते हैं। अब 7 हजार रुपये महीना में गुजारा कैसे होता होगा, आप खुद ही समझ सकते हैं। खैर जैसे-तैसे पैसे जोड़कर 10 महीने पहले 9 हजार रुपये में एक बाइक खरीदी। बाइक से दूध बेचने लगे।

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड: खजाने के लालच में महिला ने खोद डाला पूरा घर, शातिर ठग निकला तांत्रिक
एक दिन चेकिंग के दौरान पौड़ी पुलिस ने उन्हें रोक लिया। बाइक की आरसी और बीमा दिखाने को कहा, जो कि मदनमोहन के पास थी नहीं। मौके पर कागज ना दिखाये जाने पर पुलिस ने उन्हें 10 हजार का चालान थमा दिया। बुजुर्ग मदनलाल अब पैदल ही दूध बेचने को मजबूर हैं। बाइक छुड़ाने के लिए आरटीओ और पुलिस दफ्तरों के चक्कर काट रहे हैं, पर बाइक वापस मिलने की कोई उम्मीद नहीं। मदनमोहन कहते हैं कि दूध बेचने के लिए उन्होंने 9 हजार रुपये में बाइक खरीदी थी, लेकिन चालान 10 हजार का हो गया। भारी जुर्माने से उनके सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है, वो दूध बेचकर किसी तरह घर चलाते हैं, पर अब बाइक तो रही नहीं इसीलिए उन्हें पैदल ही दूध बेचना पड़ रहा है।


Uttarakhand News: Police cuts the challan of 10 thousand rupees to a milkman in pauri

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें