उत्तराखंड का ‘युवराज’..कैंसर को मात देकर मैदान पर लौटा ये खिलाड़ी, शतक जड़कर रचा इतिहास

ब्लड कैंसर को मात देकर क्रिकेट मैदान में लौटे कमल ने अपनी शतकीय पारी से इतिहास रच दिया...

Cricketer kamal kanyal made a century after defeating blood cancer - kamal kanyal, nainital, haldwani, Uttarakhand, उत्तराखंड, हल्द्वानी, स्पोर्ट्स न्यूज, कमल कान्याल, वीनू मांकड़ अंडर-19 क्रिकेट टूर्नामेंट, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

उत्तराखंड के युवा क्रिकेटर्स अपने शानदार खेल से प्रदेश का गौरव बढ़ा रहे हैं। इन युवा क्रिकेटर्स में से एक हैं हल्द्वानी के कमल कान्याल, जिन्होंने वीनू मांकड़ अंडर-19 क्रिकेट टूर्नामेंट में शानदार शतकीय पारी खेली। कमल के शतक की बदौलत उत्तराखंड की टीम ने टूर्नामेंट में शानदार जीत हासिल की। आज हर कोई कमल की सफलता देख रहा है, पर एक दौर ऐसा भी था, जब ये युवा क्रिकेटर कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी की चपेट में आ गया था। बात साल 2013-14 की है। कमल ने क्रिकेट करियर की शुरुआत की ही थी कि साल 2014-15 में उन्हें ब्लड कैंसर हो गया। कमल कन्याल में ब्लड कैंसर का पता पहले स्टेज में ही चल गया था। जिसके बाद कमल कन्याल पूरे एक साल तक क्रिकेट से दूर रहे। परिजनों ने उनका नोएडा के अस्पताल में ट्रीटमेंट कराया।

यह भी पढ़ें - देहरादून स्टेडियम में तूफानी पारी खेलेंगे क्रिस गेल, ICC की तरफ से मैच को मिली हरी झंडी
कमल की जगह कोई और होता तो टूट जाता, पर कमल ने अपनी बीमारी से उबर कर क्रिकेट में दोबारा वापसी की। पुड्डुचेरी में हुए वीनू मांकड़ अंडर-19 क्रिकेट टूर्नामेंट में कमल कान्याल ने शानदार खेल का प्रदर्शन किया। उनकी शतकीय पारी की बदौलत उत्तराखंड की टीम ने नागालैंड की टीम को हराकर लगातार दूसरी जीत दर्ज कराई। ट्रॉफी जीतने के लिए उत्तराखंड की टीम को 7 मैच और खेलने हैं। ट्रॉफी के पहले मैच में भी कमल ने शानदार पारी खेली थी। उत्तराखंड और मणिपुर की टीम के बीच हुए मुकाबले में जीत उत्तराखंड के हाथ लगी थी। दूसरे मैच में भी कमल शानदार फॉर्म में दिखे। उन्होंने 103 गेंदों पर नाबाद 103 रन बनाए। उत्तराखंड टीम के खिलाड़ी आर्य सेठी और कुशाग्र ने भी बड़ा स्कोर खड़ा करने में योगदान दिया। कमल इस वक्त हल्द्वानी कोल्ट्स क्रिकेट एकेडमी में कोच मनोज भट्ट से क्रिकेट की बारीकियां सीख रहे हैं।


Uttarakhand News: Cricketer kamal kanyal made a century after defeating blood cancer

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें