Connect with us
Image: police busted racket in uttarakhand rudrapur

उत्तराखंड में जिस्म के सौदागरों का पर्दाफाश, पुलिस कर्मी की पत्नी पर लगे गंभीर आरोप

उत्तराखंड में पुलिसकर्मी की पत्नी अपनी सहेलियों संग मिलकर नाबालिगों से देह व्यापार कराने के आरोप लगे हैं...पढ़िए पूरी खबर

सोशल नेटवर्किंग एप लोगों को एक-दूसरे से जोड़ते हैं, लेकिन इसी तकनीक का इस्तेमाल कर अपराधी मासूमों को अपराध के दलदल में भी धकेल रहे हैं। अब उत्तराखंड के रुद्रपुर में ही देख लीजिए। अमर उजाला के मुताबिक पुलिसवाले की बीवी व्हॉट्सएप से देह व्यापार का धंधा चला रही थी। अब सैंया भये कोतवाल तो फिर डर काहे का, लंबे वक्त से देह व्यापार का धंधा चल रहा था। आरोप है कि पुलिसवाले की पत्नी का साथ उसकी कुछ सहेलियां भी दे रही थीं। ये लोग व्हॉटसएप के जरिए ना सिर्फ ग्राहक खोजते थे, बल्कि किशोरियों को भी धमकाते थे। इन किशोरियों को ग्राहकों के पास भेजा जाता था। ये सब ऐसे ही चलता रहता अगर 4 दिन पहले एक किशोरी के परिजनों ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट ना दर्ज कराई होती। पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि उसकी दो सहेलियां अब भी फरार हैं। पूरा मामला क्या है, चलिए बताते हैं।
आगे पढ़ें...

यह भी पढें - उत्तराखंड के 11 जिलों में 20 से 25 फीसदी महंगी होगी जमीन..सर्किल रेट बढ़ाने की तैयारी
4 दिन पहले संजयनगर खेड़ा में रहने वाली एक नाबालिग अचानक लापता हो गई थी। नाबालिग के परिजनों ने गणेश गार्डन तीनपानी डैम के पास रहने वाली एक महिला और उसकी दो सहेलियों पर किशोरी को अगवा करने का आरोप लगाया था। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची तो दो किशोरियां एक पुलिसवाले के घर में मिलीं। पुलिस दोनों किशोरियों के साथ ही आरोपी महिला को थाने ले आई। पूछताछ में किशोरियों ने बताया कि आरोपी महिला उनसे गलत काम कराती है। आरोपी महिला ने भी किशोरियों से देह व्यापार कराने की बात कबूली है। जिस महिला पर किशोरियों से देह व्यापार कराने का आरोप लगा है, उसका पति पुलिस में सिपाही है। तीनों आरोपी महिलाएं रुद्रपुर एस्कॉर्ट सर्विस के नाम से सेक्स रैकेट चला रही थीं। इसके लिए उन्होंने व्हॉट्सएप पर ग्रुप बनाया हुआ था।
आगे पढ़ें...

यह भी पढें - उत्तराखंड में भारी बारिश- भूस्खलन, बदरीनाथ और गंगोत्री हाईवे बंद..5 जिले सावधान रहें
व्हॉट्सएप पर ग्रुप के जरिए नाबालिगों की तस्वीरें ग्राहकों को दिखाई जाती थीं। सौदा तय होने पर मुख्य आरोपी की दोनों सहेलियां नाबालिगों को ग्राहक के कमरे तक पहुंचाती थीं। तीनों महिलाओं ने नाबालिगों को नैनीताल, रामनगर समेत दूसरे शहरों में भी भेजा था। सिपाही की पत्नी किशोरियों को धमकाती थी, पति का नाम लेकर डराती थी। जिस वजह से डरी हुई लड़कियां देह व्यापार करने को मजबूर हो गईं। फिलहाल इस मामले में पुलिसकर्मी के शामिल होने के सबूत नही मिले हैं। पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है, 2 फरार आरोपियों की तलाश के लिए जगह-जगह दबिश दी जा रही है।

वीडियो : श्री बदरीनाथ धाम से जुड़े अनसुने रहस्य
वीडियो : आछरी - गढ़वाली गीत
वीडियो : DM स्वाति भदौरिया से खास बातचीत
Loading...
Loading...

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

Loading...

वायरल वीडियो

Loading...

इमेज गैलरी

Trending

SEARCH

To Top