उत्तराखंड के लिए गौरवशाली पल, पत्रकार राहुल कोटियाल को मिला रेड इंक अवॉर्ड

सुकमा में नक्सलियों के खिलाफ फर्जी मुठभेड़ का खुलासा करने वाले राहुल कोटियाल रेड इंक अवॉर्ड से सम्मानित किए गए, पढ़िए पूरी खबर...

Rahul kotiyal of uttarakhand got red ink award - उत्तराखंड न्यूज, राहुल कोटियाल, रोहुल कोटियाल रेड इंक अवॉर्ड, राहुल कोटयाल अवॉर्ड, Uttarakhand News, Rahul Kotiyal, Rahul Kotiyal Red Ink Award, Rahul Kotiyal Award, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

ये सच है कि पत्रकारिता अब मिशन नहीं बिजनेस बन गई है, पर तमाम मुश्किलों और चुनौतियों के बीच सरोकारी पत्रकारिता आज भी जिंदा है। और इसे जिंदा रखने का श्रेय जाता है राहुल कोटियाल जैसे निडर पत्रकारों को...राहुल कोटियाल वही हैं जिन्होंने छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में हुई फर्जी मुठभेड़ का भंडाफोड़ किया था। इसी रिपोर्ट के चलते मुठभेड़ का असली सच सबके सामने आया और पता चला कि सैन्य बल की कार्रवाई में जो 15 नक्सली मारे गए थे, वो असल में आदिवासी थे। आज इस रिपोर्ट को एक बार और याद करने का दिन है, क्योंकि राहुल कोटियाल को प्रतिष्ठित रेड इंक पत्रकारिता पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। मुंबई प्रेस क्लब ने उन्हें रेड इंक पुरस्कार से नवाजा। ये पूरे उत्तराखंड के लिए गौरवशाली पल है, क्योंकि राहुल कोटियाल इसी देवभूमि से ताल्लुक रखते हैं। राहुल को ये सम्मान मानवाधिकार कैटेगरी में सर्वश्रेष्ठ रिपोर्टिंग के लिए मिला है। ये रिपोर्ट राहुल कोटियाल ने न्यूजलॉन्ड्री के लिए तैयार की थी।

यह भी पढें - पहाड़ की होनहार बिटिया मोनिका.. भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर में बनी वैज्ञानिक
ये घटना पिछले साल अगस्त की है। छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुई एक मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने 15 नक्सलियों को मारने का दावा किया था। मुठभेड़ का असली सच कभी उजागर ना हो पाता अगर न्यूजलॉन्ड्री के पत्रकार राहुल कोटियाल ने मौके पर पहुंचने की हिम्मत ना दिखाई होती। तमाम खतरों के बावजूद राहुल छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित इलाके में पहुंच गए। दूरस्थ गांवों में गए और वहां से जो रिपोर्ट्स लेकर आए, उसने सत्ता और शासन को हिला दिया। ऑपरेशन मॉनसून के तहत हुई जिस कार्रवाई को सुरक्षा बल अपनी बड़ी कामयाबी बता रहे थे, वो पूरी तरह फर्जी निकली। मारे गए 15 लोगों में से ज्यादातर निर्दोष गांववाले थे। कुछ की उम्र तो केवल 13 साल थी। इस शानदार रिपोर्टिंग के लिए न्यूजलॉन्ड्री हिंदी के असिस्टेंट एडिटर राहुल कोटियाल को रेड इंक अवॉर्ड मिला है। राहुल कोटियाल प्रतिष्ठित रामनाथ गोयनका अवॉर्ड से भी सम्मानित हो चुके हैं। इस शानदार उपलब्धि के उन्हें राज्य समीक्षा टीम की तरफ से ढेरों बधाई।


Uttarakhand News: Rahul kotiyal of uttarakhand got red ink award

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें