उत्तराखंड: प्रॉपर्टी डीलर के ठिकाने पर छापा, ढाई करोड़ के पुराने नोट बरामद, मचा हड़कंप

उत्तराखंड में पुराने नोटों का बाजार गर्म है। आप भी ऐसे लोगों से सावधान रहें। पढ़िए पूरी खबर

Old notes captured in uttarakhand - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, काशीपुर न्यूज, उत्तराखंड नकली नोट, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Kashipur News, Uttarakhand fake notes, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

उत्तराखंड में पुरानी करेंसी को दूसरे देशों में खपाने वाला गिरोह सक्रिय है। गिरोह के लोग प्रदेश के भोले-भाले लोगों को गुमराह कर जुर्म की दलदल में धकेल रहे हैं। मामला काशीपुर का है, जहां पुलिस ने एक प्रॉपर्टी डीलर के दफ्तर पर छापा मार कर वहां से ढाई करोड़ रुपये की पुरानी करेंसी बरामद की। पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार भी किया है, दो आरोपी अब भी फरार हैं। हालांकि बरामद पुरानी करेंसी का आरोपी किस तरह इस्तेमाल करने वाले थे, इस बारे में पता नहीं चल पाया है। एसएसपी ने पुरानी करेंसी का जखीरा पकड़ने वाली पुलिस टीम को ढाई हजार रुपये का नगद इनाम देने की घोषणा की है। बरामद करेंसी में पांच सौ और हजार रुपये के पुराने नोट शामिल हैं। पुलिस को आईएमएम रोड पर प्रॉपर्टी डीलर कुंवर सिंह बिष्ट के दफ्तर में पुरानी करेंसी का जखीरा होने की सूचना मिली थी।

यह भी पढें - सेना दिवस पर उत्तराखंड से दर्दनाक खबर, सड़क हादसे में फौजी की मौत
पुलिस ने दफ्तर में छापा मारा तो वहां से पुराने नोटों का बड़ा जखीरा मिला। नोटों की गिनती शुरू हुई तो पुलिस के होश उड़ गए, बरामद रकम में ढाई करोड़ के पुराने नोट थे। पुलिस ने इस मामले में प्रॉपर्टी डीलर कुंवर बिष्ट और बृजेश डिमरी नाम के शख्स को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के दो साथी गुरुप्रेम सिंह और रंजीत सिंह अब भी फरार हैं। शुरुआती जांच में पता चला है कि ये करेंसी मुरादाबाद से कलेक्ट की गई थी, पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि करेंसी लाने वालों ने उन्हें एक करोड़ के नोटों के बदले 10 लाख रुपये दिए जाने की बात कही थी। इस करेंसी को कहां बदला जाना था, इस बारे में फिलहाल पता नहीं चल पाया है, पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ धारा 420/511, 102 व 5/7 एसबीएन एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।


Uttarakhand News: Old notes captured in uttarakhand

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें