नैनीताल और मसूरी से दूर होगी बड़ी परेशानी, सांसद अनिल बलूनी का एक और बड़ा काम

नैनीताल और मसूरी में देश और दुनिया से लोग घूमने आते हैं। ऐसे में सांसद अनिल बलूनी इन दो जगहों के लिए बड़ा काम कर रहे हैं।

Anil baluni to clear water problem in nainital and mussoorie - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, अनिल बलूनी, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, उत्तराखंड सांसद अनिल बलूनी, Uttarakhand, Uttarakhand News, Anil Baluni, latest Uttarakhand News, Uttarakhand MP Anil Baluni, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

हर कोई जानता है कि उत्तराखंड की दो जगहें नैनीताल और मसूरी पर देश और दुनियाभर के पर्यटकों की निगाहें रहती हैं। हर साल लाखों की संख्या में यहां पर्यटक घूमने आते हैं लेकिन एक परेशानी है, जो हर किसी को सालती रहती है। वो है पानी की परेशानी। अब उत्तराखंड से राज्यसभा सासंद अनिल बलूनी इस दिशा में एक बड़ा काम करने जा रहे हैं। अनिल बलूनी ने इस बारे में अपने फेसबुक पेज पर जानकारी दी है और लिखा है। ‘नैनीताल और मसूरी भारत ही नहीं विश्व के प्रमुख पर्यटन केंद्रों में स्थान रखते हैं। इनका संरक्षण हमारी जिम्मेदारी है, किंतु दोनों लंबे समय से पेयजल संकट से गुजर रहे हैं। मित्रों इस प्रकार से लंबे समय तक नहीं चल पाएगा। इससे उत्तराखंड के पर्यटन पर प्रतिकूल असर पड़ सकता है’।

यह भी पढें - उत्तराखंड के किसानों के लिए सांसद अनिल बलूनी की पहल, कोदा-झंगोरा से जुड़ी अच्छी खबर
सांसद अनिल बलूनी ने आगे लिखा है कि ‘मैंने 2 जून को नैनीताल में अधिकारियों के साथ बैठक कर इस समस्या के समाधान हेतु काम करना प्रारंभ किया। उसके बाद मसूरी में बुद्धिजीवियों के साथ संवाद में यह अनुभव हुआ कि ये दोनों शहर भीषण पेयजल संकट से गुजर रहे हैं। इस हेतु मैंने उत्तराखंड के पेयजल विभाग से आंकलन मांगा, जो प्रथमदृष्टया नैनीताल के लिये 163 करोड़ और मसूरी के लिये 180 करोड़ का प्रस्तुत किया गया। मैंने भारत सरकार के सम्बन्धित विभाग और पीएमओ (प्रधानमंत्री कार्यालय) से इस समस्या के समाधान का अनुरोध किया। पीएमओ और भारत सरकार के विभाग ने राज्य के मुख्यसचिव से बात की। मुख्यसचिव ने नैनीताल के पेयजल हेतु खैरना के निकट बैराज निर्माण की आवश्यकता बताई’। आगे उन्होंने बड़ी बात बताई है।

यह भी पढें - तीलू रौतेली और माधो सिंह भंडारी से जुड़ी धरोहरों का संरक्षण करेगा पुरातत्व विभाग
सांसद बलूनी ने आगे बताया है कि ‘पीएमओ की पहल पर यह अभियान आगे बढ़ा है। मोदी सरकार की संवेदनशीलता और त्वरित कार्यशैली के कारण अपेक्षा है उक्त योजनाओं पर प्रयास धरातल पर दिखने लगे हैं। अब बैराज हेतु स्थलीय निरीक्षण, नया आंकलन, केंद्रीय टीम का दौरा प्रारम्भ होगा जो नैनीताल को बचाने के लिये, और पेयजल समाधान हेतु मील का पत्थर साबित होगा। शीघ्र मसूरी का अपडेट भी प्राप्त होगा’। कुल मिलाकर कह सकते हैं कि ये एक बेहतरीन पहल है। देखिए सांसद अनिल बलूनी की फेसबुक पोस्ट।

मित्रों, नैनीताल और मसूरी भारत ही नहीं विश्व के प्रमुख पर्यटन केंद्रों में स्थान रखते हैं इनका संरक्षण हमारी जिम्मेदारी...

Posted by Anil Baluni on Tuesday, December 25, 2018


Uttarakhand News: Anil baluni to clear water problem in nainital and mussoorie

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें