Video: उत्तराखंड में सोशल मीडिया की सुपरस्टार है ये एक्ट्रेस, शहर में रहकर भी पहाड़ से प्यार

सुमन बुढ़ाकोटी गौड़...ये नाम अक्सर आपने सुना होगा। अपने गुदगुदाने वाले वीडियोज से आजकल ये सोशल मीडिया पर छाई हुई हैं..देखिए

life story of uttarakhad actress suman gaur - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, सुमन गौड़, गढ़वाली कॉमेडी, गढ़वाली वीडियो, गढ़वाली गीत, गढ़वाली फिल्म, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Suman Goud, Garhwali Comedy, Garhwali Video, Garhwali Song, Garhwali Film, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

कहते हैं कि प्रतिभा कभी पहचान की मोहताज़ नहीं होती। आज हम आपको एक ऐसी ही प्रतिभा के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनकी जिंदगी पहाड़ संस्कृति और रिवाजों के प्रचार प्रसार में ही रच बस गई।
नाम है सुमन बुढ़ाकोटी गौड़..अक्सर आपने यू-ट्यूब पर गढ़वाली कॉमेडी करते हुए भगवान चंद के साथ देखा होगा, कई फिल्मों में इन्हें अभिनय करते देखा होगा। पौडी गढवाल के सुनकटला गांव में जन्मी इस बेटी की जितनी तारीफ की जाए उतना कम है। निस्वार्थ भाव से और कला के माध्यम से सुमन गौड़ ने पहाड़ की बोली भाषा, संस्कृति और रिवाजों का प्रचार प्रसार करने में कोई कमी नहीं छोड़ी। 12वीं तक पढ़ी सुमन गौड की शादी 90 के दशक में सुभाष चन्द्र गौड़ के साथ हुई इसके बाद वो दिल्ली चली आईं थी। दिल में उत्तराखंड बसा था और रह-रहकर अपने गौ-गुठ्यार की याद इन्हें सताती रहती थी।

यह भी पढें - Video: आते ही हिट हुआ ये गढ़वाली गीत, अब तक 1 लाख 76 हजार लोगों ने देखा
धीरे धीरे सुमन गौड़ अभिनय के क्षेत्र में आईं। पिता विश्वेश्वर दत्त बुडाकोटी रंगकर्मी रहे हैं तो अभिनय सुमन के खून में बसा था। शायद उन्हें अपने पहाड़ से जुड़ने का एक सही रास्ता मिल गया था। उनकी पहली फिल्म थी नौनु से प्यारू नाती। इसके बाद तो वो लगातार आगे बढ़ती गईं। एक के बाद एक गढ़वाली फिल्में आईं लेकिन एक्टिंग का जुनून खत्म नहीं हुआ। वक्त बीता तो उनकी मुलाकात पहाड़ के लेखक और कॉमेडी एक्टर भगवान चंद से हुई। भगवान चंद जी के बारे में भी हम आपको एक खास आर्टिकल में जानकारी देंगे। खैर..दोनों ने धीरे धीरे गढ़वाली हास्य से भरी शॉर्ट फिल्मों पर काम किया। भले ही वो हास्य वीडियो पर काम कर रही हैं लेकिन अपनी संस्कृति और रिवाजों से छेड़छाड़ सुमन गौड़ को पसंद नहीं। उनका मानना है कि पहाड़ की संस्कृति को एक अच्छे नज़रिये से ही कैमरे पर दिखाय़ा जा सकता है।

यह भी पढें - Video: रूहान भारद्वाज का नया गढ़वाली गीत, 3 दिन में 1 लाख से ज्यादा लोगों ने देखा
यकीन मानिए बहुत कम लोग ऐसे होते हैं, जो इस तरह से काम करके अपनी ज़िंदगी अपनी संस्कृति के लिए झोंक देते हैं। इनमें अगर सुमन गौड़ का भी नाम शामिल किया जाए तो कोई आश्चर्य नहीं...आप भी देखिए ये वीडियो।

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

Uttarakhand News: life story of uttarakhad actress suman gaur

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें