गढ़वाल के बडेथ गांव का लड़का बना PCS अधिकारी, पिता चाय की दुकान चलाते हैं

आज हम आपको गढ़वाल के एक ऐसे लड़के कहानी बता रहे हैं, जिसके पिता चाय की दुकान चलाते हैं।

Story of arvind singh negi of pauri garhwal - Arvind singh negi, pauri garhwal, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand,PCS Officer,PCS अधिकारी,इंटरमीडिएट,परीक्षा,पौड़ीउत्तराखंड,

कहते हैं हिम्मत न हारने वालों को सफलता मिल ही जाती है। उत्तराखंड के पौड़ी जिले में नैनीडाडा ब्लाक में एक गांव है बड़ेथ। इस गांव के निवासी अरविंद सिंह नेगी जब पीसीएस अधिकारी बनकर अपने पिता के सामने आये तो पिता का सीना भी गर्व से चौड़ा हो गया। हो भी क्यों न, आखिर घर से दूर रहकर अपनी रोजी-रोटी के लिए चाय बेचने वाले बाप को अपनी मेहनत साकार होती दिख रही थी। कहा जा रहा है कि अरविंद PCS की तैयारी करने के साथ ही दुकानों में एकाउंट्स देखने का काम करके अपनी मेहनत जारी रखते थे। तो कभी पिता की छोटी-सी दुकान में बैठ चाय बेचने का काम किया, लेकिन कभी अपने लक्ष्य से अपना ध्यान कभी नहीं हटाया। उसी का परिणाम है कि आज अरविन्द PCS Officer बन गए हैं। जानिए उनकी कहानी।

यह भी पढें - उत्तराखंड में A फॉर Apple नहीं Army होता है...जानिए पहाड़ी लोगों की 10 दिलचस्प बातें
अरविंद नेगी ने साल 2003 में हाईस्कूल की परीक्षा द्वितीय श्रेणी में पास की, साल 2005 में इंटरमीडिएट की परीक्षा दी, लेकिन वो ये परीक्षा पास नहीं कर पाए और बारहवीं में फेल हो गए। इसके बाद भी वो इससे निराश नहीं हुए। परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी, इस वजह से अरविंद मेरठ जाकर पिता की छोटी-सी चाय की दुकान में अपने पिता का हाथ बंटाने लगे। इसी दौरान उन्होंने मेरठ से ही बीकॉम और एमकॉम की डिग्री भी हासिल की। अरविन्द नेगी ने अपनी जीवन के सिर्फ एक लक्ष्य निर्धारित किया था कि उन्हें PCS अधिकारी बनना है। अपने उसी लक्ष्य को पाने के लिए अरविन्द कभी भी मेहनत करने से पीछे नहीं हटे, और उसी मेहनत की बदौलत नतीजा ये हुआ कि जो विद्यार्थी इंटरमीडिएट की परीक्षा में फेल हो गया था, वही आज PCS अधिकारी है।

यह भी पढें - पहाड़ की बेटी...खेती-बाड़ी भी की और टॉपर भी बनी, मेहनत के दम पर पेश की मिसाल
अब अरविन्द उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपी-पीसीएस लोअर) की परीक्षा पास कर श्रम प्रवर्तन अधिकारी बन गये हैं। पौड़ी जिले के अरविन्द सिंह नेगी ने साल 2013 में पहली बार पीसीएस की परीक्षा दी थी। उस दौरान उन्हें सफलता नहीं मिली। साल 2015 में उन्होंने फिर उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपी-पीसीएस लोअर) की परीक्षा दी। परीक्षा के परिणाम हाल ही में घोषित हुए हैं, जिसमें अरविंद का चयन श्रम प्रवर्तन अधिकारी के पद के लिए किया गया है। इस सफलता के लिए अरविंद सिंह नेगी को हार्दिक शुभकामनाएं। इसी तरह से जिंदगी में लगातार आगे बढ़ते रहिए। भगवान आपको हमेशा का खुशी का मार्ग प्रशस्त करे।


Uttarakhand News: Story of arvind singh negi of pauri garhwal

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें