देवभूमि इस बच्चे को उसकी मां से मिलाइए , रोशन रतूड़ी देंगे 30 हजार रुपये का ईनाम

इस बच्चे का नाम दीपक सिंह रावत है। ये उत्तराखंड के उत्तरकाशी के जोशियाणा गांव का रहने वाला है। इसे ढूंढकर लाने वाले को रोशन रतूड़ी 30 हजार रुपये का ईनाम देंगे।

roshan raturi appeal to every people - roshan raturi, rr huminity, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand,उतरकाशी,रोशन रतूड़ी,वॉट्सऐपउत्तराखंड,

दीपक सिंह रावत उत्तरकाशी के सेंट्रल स्कूल में पढ़ता था। पिता हयात सिंह रावत की आंखों का तारा और अपनी मां का दुलारा था दीपक। साल 2004 से एक मां की आंखें अपने बच्चे को देखने के लिए तरस गई हैं। हर दिन एक मां अपने कलेजे के टुकड़े की याद में आंसू बहाती है। हालांकि बच्चा अब बड़ा हो गया होगा लेकिन शायद मां-पिता के पास बच्चे की ये ही तस्वीर है। वो इसी तस्वीर के सहारे जी रहे हैं। जब समाजसेवी रोशन रतूड़ी को इस बात का पता चला, तो उन्होंने दीपक रावत के लिए मुहिम छेड़ दी है। रोशन रतूड़ी का कहना है कि जो भी दीपक को उसकी मां से मिलवाएगा, उसे 30 हजार रुपये का ईनाम दिया जाएगा। आपको भी अगर इसके बारे में कुछ भी जानकारी हो तो रोशन रतूड़ी को बताएं। उनके वॉट्सऐप नंबर 1544475913 पर आप उनसे संपर्क कर सकते हैं। खुद रोशन रतूड़ी ने इस बारे में अपने फेसबुक पेज पर जानकारी दी है। उन्होंने लिखा है कि ‘’इंसानियत के लिए शेयर किजिएगा क्योंकि एक माँ को उसके बेटे से मिलाना है’’।

यह भी पढें - Video: पहाड़ की बेबस मां ने बयां किया अपना दर्द, मदद के लिए आगे आए रोशन रतूड़ी
रोशन रतूड़ी ने आगे लिखा है कि ‘’नाम-दीपक सिह रावत ,पिता का नाम श्री-हयात सिंह रावत , ग्राम -जोसियाडा ,उतरकाशी उतराखंड..2004 से लापता है ! ये उतरकाशी के सैंट्रल स्कूल में पढ़ता था। स्कूल मैं बहुत ही समझदार और बुद्धिमान बालक था। पढ़ाई मैं बहुत होशियार था। इसके परिवार वाले उम्मीद लगाये बैठे हैं कि कभी ना कभी उनका दिल टुकड़ा बेटा घर वापस ज़रूर आएगा’’। आगे रोशन रतूड़ी ने दीपक के बारे में जानकारी भी दी है। उन्होंने बताया है कि ‘’दीपक का रंग गोरा है, आंखें बड़ी बड़ी हैं, दायें हाथ पर इनकी मां ने बचपन में ऊँ लिखवाया था। पता बताने वाले को RR Humanity-1st की तरफ़ से 30,000 रूपये नगद इमाम में दिये जायेंगे। भगवान का आशीर्वाद रहा और आप सबकी प्रार्थना रही तो दीपक रावत जल्दी ही मिल जाएगा’’।

यह भी पढें - Video: रोशन रतूड़ी के दुश्मन भी दंग हुए, अर्जुन बिष्ट की पत्नी ने बड़बोलों के मुंह बंद किए!
रोशन रतूड़ी आगे लिखते हैं कि ‘’क्या बीत रही होगी उस मां पर जिसने अपनी कोख से जन्म दिया। साल 2004 से बेटे के इंतज़ार में मां की आंखों का पानी भी सूख गया है। आप भी रोशन रतूड़ी की ये पोस्ट देखिए।

इंसानियत के लिए शेयर किजीएगा ..!!

एक माँ को उसके बेटे से मिलाना है ।

नाम-दिपक सिह रावत ,पिता का नाम श्री-हयात सिंह...

Posted by Roshan Raturi RR on Tuesday, September 25, 2018


Uttarakhand News: roshan raturi appeal to every people

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें