उत्तराखंड रोडवेज की 2 बसों पर दिल्ली में लगा 2 लाख का जु्र्माना, पुलिस ने की कार्रवाई

दिल्ली पुलिस ने उत्तराखंड परिवहन निगम की दो बसों पर दो लाख का जुर्माना लगाते हुए, बसों को सीज कर दिया है...

Delhi police fined two lakhs on uttarakhand buses - Uttarakhand, Delhi police, roadways, rudrapur, Rishikesh, उत्तराखंड परिवहन निगम, रोडवेज, देहरादून, उत्तराखंड, रुद्रपुर, ऋषिकेश, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

उत्तराखंड परिवहन निगम को दिल्ली पुलिस ने तगड़ा झटका दिया है। दिल्ली पुलिस ने रोडवेज की दो बसों का चालान कर दिया है। चालान की वजह है प्रदूषण। दिल्ली पुलिस का कहना है कि उत्तराखंड की बसें दिल्ली की आबोहवा खराब कर रही हैं, प्रदूषण फैला रही हैं। जिसके चलते बसों के चालान काटने की कार्रवाई की गई है। चालान की रकम भी बड़ी है। दोनों बसों का एक-एक लाख का चालान कटा है। एक बस रुद्रपुर रोडवेज डिपो की है, तो वहीं दूसरी बस ऋषिकेश डिपो की है। दोनों का चालान करने के बाद दिल्ली पुलिस ने इन बसों को सीज कर दिया। रोडवेज बसों के खिलाफ हुई कार्रवाई के बाद परिवहन निगम पर भी सवाल उठ रहे हैं। कहा जा रहा है कि परिवहन निगम अपने मुनाफे के लिए बसों की फिटनेस पर ध्यान नहीं दे रहा। उत्तराखंड की बसें बिना प्रदूषण जांच के दौड़ रहीं हैं।

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड में फर्जी जज बनकर मौज काट रही थी चालाक महिला, कोर्ट ने सुनाई सख्त सजा
केंद्र सरकार प्रदूषण फैलाने वालों पर सख्ती कर रही है, प्रदूषण प्रमाण पत्र को लेकर कड़े जुर्माने का प्रावधान किया गया है। इसके बावजूद उत्तराखंड परिवहन निगम सुधरने का नाम नहीं ले रहा। प्रदूषण फैला रही बसों को दिल्ली भेजा जा रहा है। परिवहन निगम के लिए दिल्ली रूट सबसे फायदेमंद रूट है। प्रदेश के सभी डिपो से हर रोज 550 बसें दिल्ली आती-जाती हैं। परिवहन विभाग इस रूट पर आयु सीमा पूरी कर चुकी बसों को भी दौड़ा रहा है। इसी के चलते सोमवार को आनंद विहार में दिल्ली पुलिस ने रुद्रपुर डिपो की साधारण बस यूके07पीए-1488 को सीज कर दिया। इससे पहले शनिवार को भी ऋषिकेश डिपो की बस यूके07पीए-1952 का एक लाख का चालान कर बस को सीज किया गया था। बसों के चालान पर परिवहन निगम के अधिकारी कह रहे हैं कि जिन बसों के खिलाफ कार्रवाई की गई, उन बसों में वैध प्रदूषण प्रमाण पत्र थे, पर ये पत्र दिल्ली पुलिस ने अस्वीकार कर दिए। अगर चालान ही करना था तो नियमानुसार 5 हजार रुपये का चालान किया जाना था। एक लाख का चालान कर बसों को सीज करना गलत है।


Uttarakhand News: Delhi police fined two lakhs on uttarakhand buses

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें