उत्तराखंड: दुनियाभर के पर्यटकों से गुलजार हुआ राजाजी पार्क, हाथी और बाघ देखने हैं तो चले आइए

राजाजी टाइगर रिजर्व में विदेशी पर्यटकों के पहुंचने का सिलसिला जारी है, टाइगर और गजराज को देखने के लिए विदेशी पर्यटकों में भारी उत्साह दिखा....

Tourists have thronged in rajaji tiger reserve haridwar - Haridwar, rajaji tiger reserve, Uttarakhand, उत्तराखंड, राजाजी टाइगर रिजर्व, चीला रेंज, हरिद्वार, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

प्रकृति प्रेमियों के लिए उत्तराखंड से बेहतर कोई जगह नहीं। जो लोग प्रकृति से, इसके बनाए जीवों से प्यार करते हैं, उनके लिए उत्तराखंड जन्नत है। यहां के नेशनल पार्क दुर्लभ जीवों का घर हैं, जिन्हें निहारने के लिए पर्यटक दूर-दूर से आते हैं। हरिद्वार से सटा राजाजी टाइगर रिजर्व पार्क भी इन दिनों पर्यटकों से गुलजार है। यहां टाइगर के साथ-साथ गजराज भी खूब दर्शन देते हैं। इन्हें देखने के लिए देशी ही नहीं विदेशी पर्यटक भी हरिद्वार पहुंच रहे हैं। राजाजी नेशनल पार्क आने वाले पर्यटकों की संख्या में हर साल इजाफा हो रहा है। पार्क में जंगल सफारी के साथ ही जंगली जानवरों को करीब से देखने का आनंद उठाया जा सकता है। इन दिनों नेशनल पार्क में पर्यटकों का जमघट लगा है। पर्यटकों की सुविधा के लिए यहां ओपन जिप्सी की सुविधा भी दी जा रही है, जो पर्यटकों के रोमांच को बढ़ा देती है।

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड में गौ तस्कर का पीछा कर रहे पुलिसकर्मी को ट्रैक्टर ने कुचला.. हालत गंभीर
विदेशी पर्यटक भी यहां आकर बेहद खुश नजर आए। उन्होंने कहा कि भारत में हाथी बड़ी संख्या में मिलते हैं, जो कि अद्भुत है। राजाजी टाइगर रिजर्व प्रबंधन ने भी विदेशी पर्यटकों के स्वागत के खास इंतजाम किए हैं। नेचर गाइडों को विदेशी भाषा का प्रशिक्षण दिया गया है। पिछले सीजन में पार्क में करीब 1700 विदेशी पर्यटक आए थे। इस बार इनकी संख्या ढाई से तीन हजार रहने की उम्मीद है। पिछले एक दशक में पार्क में जानवरों की संख्या बढ़ी है। पर्यटक भी इन्हें निहारने के लिए बड़ी तादाद में पहुंच रहे हैं। पार्क प्रशासन को उम्मीद है कि पिछले साल की तरह इस बार भी विदेशी सैलानी बड़ी संख्या में राजाजी टाइगर रिर्जव आएंगे। पार्क प्रशासन ने पर्यटकों के स्वागत के साथ-साथ उनकी सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए हैं।


Uttarakhand News: Tourists have thronged in rajaji tiger reserve haridwar

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें