वाह उत्तराखंड: देश में पहली बार देवभूमि में शुरू हुई वर्चुअल क्लास, 2 लाख बच्चों को फायदा

उत्तराखंड में वर्चुअल क्लासरूम प्रोजेक्ट का शुभारंभ हो गया, इससे दो लाख छात्रों को फायदा होगा, जानिए प्रोजेक्ट की खास बातें...

Uttarakhand become first state of the country to start virtual classes - virtual classes, Government school, smart school, trivendra singh rawat, Dehradun, शिक्षा विभाग, देहरादून, स्मार्ट क्लास प्रोजेक्ट, त्रिवेंद्र सिंह रावत, देहरादून, अरविंद पांडे,सीएम त्रिवेंद्र, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

त्रिवेंद्र सरकार की कोशिशों की बदौलत उत्तराखंड ने एक बड़ी उपलब्धि हासिल कर ली है। उत्तराखंड में वर्चुअल क्लासेज का संचालन शुरू हो गया है। इसके साथ ही उत्तराखंड वर्चुअल क्लास शुरू करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। राजीव गांधी नवोदय विद्यालय ननूरखेड़ा में हुए कार्यक्रम में सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने वर्चुअल क्लास का शुभारंभ किया। वर्चुअल क्लास के जरिए उन स्कूलों के बच्चे भी हर विषय की जानकारी हासिल कर सकेंगे, जिन स्कूलों में टीचर्स की कमी है। इससे प्रदेश के 500 स्कूलों के एक लाख 90 हजार बच्चे लाभान्वित होंगे। देहरादून में हुए कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान में 150 स्कूलों को वर्चुअल क्लास से जोड़ा जा चुका है। अगले 15 दिनों में 350 स्कूलों को भी इससे जोड़ दिया जाएगा। वर्चुअल क्लास के जरिए छात्र विषयों की जानकारी हासिल करने के साथ ही प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी भी कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें - उत्तराखंड: 2 महीने बंद रहेगी न्यू ऋषिकेश-रायवाला रेलवे लाइन, मिलने वाला है बड़ा तोहफा
इसका इस्तेमाल करियर परामर्श, मोटिवेशन क्लास, साक्षरता और स्वास्थ्य संबंधी कार्यों के लिए भी किया जा सके। सीएम ने सचिव शिक्षा को इस संबंध में प्रस्ताव बनाने के निर्देश दिए हैं। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने भी वर्चुअल क्लास की खूबियां गिनाईं। उन्होंने कहा कि वर्चुअल क्लास की सुविधा हाई क्वालिटी एजुकेशन में उपयोगी रहेगी। प्रदेश सरकार शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए प्रयासरत है। वर्चुअल क्लासरूम का संचालन समग्र शिक्षा के अंतर्गत सूचना एवं संचार तकनीक आईसीटी के तहत किया जा रहा है। फिलहाल इसे 500 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में संचालित किया जाएगा। प्रोजेक्ट के तहत बने सेंट्रल स्टूडियो के जरिए कक्षा 6 से 12 तक के छात्र अलग-अलग विषयों के साथ ही प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर सकेंगे।


Uttarakhand News: Uttarakhand become first state of the country to start virtual classes

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें