पहाड़ की मर्दानी..खूंखार गुलदार से लड़ती रहीं कुसुम देवी, गंभीर रूप से अस्पताल में भर्ती

खेत में घास लेने गई महिला पर घात लगाकर बैठे गुलदार ने हमला कर दिया, भालू से बचने के लिए भागी महिला खाई में गिर गई...

Women died during bear attack in chamoli - Chamoli, bear attack, Women died in bear attack, Uttarakhand, उत्तराखंड, भालू के हमले में मौत, चमोली, पीपलकोटी, स्यूण गांव, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में जंगली जानवर दहशत का सबब बने हुए हैं, गुलदार के हमले में लोगों की जान जा रही है ताजा मामला चमोली का है, जहां खेत में घास लेने गई महिला पर गुलदारने हमला कर दिया। महिला ने गुलदार का बहादुरी से सामना किया। जब तक उसमें ताकत रही वो गुलदार का सामना करती रही। जब वो थक गईं तो गुलदारउन पर हावी हो गया लेकिन दाद देनी होगी महिला की हिम्मत की, जिन्होने हिम्मत नहीं हारी । ये घटना चमोली जिले के गैरसैंण के माथर गांव की है। शाम 6:30 बजे कुसुम देवी पत्नी महेन्द्र सिंह जो कि गौशाला से घर आ रही थी अचानक पीछे से गुलदार ने हमला कर दिया। कुसुम देवी ने हिम्मत नहीं हारी। वो पहले गुलदार से लड़ी और गुलदार गुलदार चिल्लाती रही। जब तक ताकत थी, कुसुम देवी गुलदार से दो दो हाथ करती रहीं लेकिन बाद में गुलदारहावी हो गया। गुलदार उनको लगभग चालीस पचास मीटर घसीट कर ले गया फिर भी कुसुम देवी ने साहस किया। वो जोर जोर से चिल्लाती रही और तब गांव के लोग भाग भाग कर मौके पर पहुंच गए। गुलदार ने गांव वालों को देखा तो मौके से भाग गया। हांव वालों की मदद से कुसुम देवी को कर्णप्रयाग अस्पताल पहुँचाया गया। फिर वहॉ से हायर सेंटर श्रीनगर श्रीकोट के लिए रेफर कर दिया गया। अभी उनका इलाज चल रहा है और उन्हें काफी चोटें आई हैं। वास्तव में ऐसी महिलाओं की हिम्मत को एक सलाम तो बनता है।
यह भी पढ़ें - उत्तराखंड में खौफनाक हत्याकांड, पति ने पत्नी को मारकर की खुदकुशी..छोड़ा सुसाइड नोट


Uttarakhand News: Women died during bear attack in chamoli

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें