जंतर-मंतर पर उत्तराखंडियों ने मनाया काला दिवस, रामपुर तिराहा कांड के दोषियों को सजा की मांग

उत्तराखंड आंदोलन और रामपुर तिराहा कांड की 25वीं बरसी, उत्तराखंड के लोगों ने दिल्ली के जंतर मंतर पर काला दिवस मनाया...गुनहगारों के लिए सजा की मांग की गई। देखिए वीडियो

UTTARAKHAND PEOPLE AT JANTAR MANTAR DELHI - उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, रामपुर तिराहा कांड, रामपुर तिराहा उत्तराखंड आंदोलन, Uttarakhand news, latest Uttarakhand news, Rampur tiraha scandal, Rampur tiraha Uttarakhand movement, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

रामपुर तिराहा कांड की 25वीं बरसी...अलग उत्तराखंड राज्य की मांग और आंदोलनकारियों का पुलिसिया दमन। आज भी उन सवालों के भी जवाब तलाशे जा रहे हैं, जो राज्य आंदोलनकारियों की निगाहों में कहीं छुर से गए हैं। 1 अक्टूबर 1994 की रात...मुजफ्फरनगर के रामपुर तिराहे पर उत्तराखंड राज्य चाहने वाले आंदोलनकारियों पर खाकी ने जो कहर बरपा था, वो जख्म शायद ही कभी भर पाएंगे। आखिर कौन वो पल भूल सकता है जब दिल्ली जा रहे आंदोलनकारियों को पुलिस ने चुन-चुन कर निशाना बनाया था। पुलिस की तरफ से दावा किया गया था कि 24 राउंड फायरिंग की गई। सात की मौत हुई थी और 17 आंदोलनकारी जख्मी हो गए थे। दौड़ा-दौड़ा कर लोगों को पीटा गया और 200 से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया था। 1994 में देर रात को रामपुर तिराहा में उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारियों के साथ जो घिनौना काम किया गया, उसकी सजा दोषियों को आज तक क्यों नहीं मिली? ये ही सवाल लोगों के दिलों में आज भी काबिज है।

यह भी पढ़ें - देवभूमि में ‘दहेज’ हत्या, एयर फोर्स के अफसर और परिजनों को 7 साल की कैद
एक बार फिर से 2 अक्टूबर के दिन दिल्ली के जंतर-मंतर पर उत्तराखंड के लोग एकत्रित हुए। एक बार फिर से मांग की गई कि इस मामले में जल्द से जल्द एसआईटी गठित हो। समाजसेवी संजय शर्मा दरमोडा समेत उत्तराखं के कई लोगों ने जंतर मंतर पर अपनी श्रंद्धाजलि व SIT को जल्दी से जल्दी गठित करने के लिये जन आवाहन किया।

2 अक्टूबर आज उत्तराखंड राज्य आंदोलन के शहीदों के लिये

# श्री संजय शर्मा दरमोडा जी के द्वारा #दिल्ली के जंतर मंतर मे अपनी श्रंद्धाजलि व SIT को जल्दी से जल्दी गठित करने के लिये जन आवाहन ।

Posted by Sanjay Chauhan on Wednesday, October 2, 2019


Uttarakhand News: UTTARAKHAND PEOPLE AT JANTAR MANTAR DELHI

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें