कोटद्वार के बंटी-बबली दिल्ली से गिरफ्तार, 1 करोड़ से ज्यादा की ठगी का हो सकता है खुलासा

कोटद्वार के राशन डीलर से 20 लाख रुपये ठगने वाले युवक-युवती दिल्ली से पकड़े गए, जानिए पूरा मामला...

Cyber fraud gang busted, Two arrested - Cyber fraud, Cyber thug arrested, Uttarakhand crime, Cyber crime, Dehradun crime news, बंटी-बबली गिरफ्तार, उत्तराखंड साइबर क्राइम, साइबर ठग अरेस्ट, देहरादून लेटेस्ट न्यूज, कोटद्वार न्यूज, पौड़ी गढ़वाल, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

देश कैशलेस हो रहा है, लेकिन जनता केयरलेस...लोगों की इसी लापरवाही का फायदा ठग उठाते हैं। पुलिस कह-कह कर थक गई कि अपने अकाउंट की डिटेल, पासवर्ड किसी से शेयर ना करो, लेकिन लोग सुनते नहीं। होश तब आता है जब लाखों की चपत लग चुकी होती है। कोटद्वार के रहने वाले एक राशन डीलर के साथ भी ऐसा ही हुआ। एक युवक और युवती ने उन्हें बड़ा कमीशन देने के नाम पर 20 लाख की चपत लगा दी। दोनों आरोपी अब पुलिस की गिरफ्त में हैं। बंटी-बबली की तर्ज पर लोगों को चूना लगाने वाले युवक-युवती ने दिल्ली में अपना ठिकाना बना रखा था। यहीं से वो ठगी की वारदातों को अंजाम देते थे। दोनों के बैंक अकाउंट से 1 करोड़ से ज्यादा का ट्रांजेक्शन होने की बात पता चली है। पूरा मामला क्या है, ये भी जान लें। बीती 31 अगस्त को कोटद्वार के रहने वाले आरएस रावत ने साइबर थाने में केस दर्ज कराया था।

यह भी पढ़ें - देहरादून रेलवे स्टेशन से अगले दो महीने तक नहीं चलेगी कोई भी ट्रेन, जानिए वजह
अपनी शिकायत में उन्होंने बताया कि फेसबुक पर उनकी दोस्ती एक युवक से हुई थी। पिछले साल युवक ने उन्हें मैसेज भेजकर बताया कि उन्हें इस्लामिक बैंक ऑफ दुबई से कुछ फंड ट्रांसफर करना है। इसके एवज में मोटा कमीशन मिलेगा। कमीशन की बात सुनकर आरएस रावत झांसे में आ गए। युवकों ने उनके इसी लालच का फायदा उठाया और 20 लाख रुपये अलग-अलग अकाउंट में जमा करा लिए। जब राशन डीलर ने पैसे वापस मांगे तो आरोपियों ने उन्हें दिल्ली बुला लिया। जैसे ही राशन डीलर दिल्ली पहुंचा आरोपियों के नंबर बंद आने लगे। ठगी का अहसास होते ही उन्होंने पुलिस में केस दर्ज करा दिया। जांच इंस्पेक्टर अमर वर्मा को सौंपी गई। पुलिस ने बैंक खातों और मोबाइल लोकेशन की डिटेल निकलवाई और दिल्ली में दबिश दी। वहां एक मकान से आरोपी युवक-युवती पकड़े गए। आरोपी युवक का नाम मनोज कुमार है, वो हिमाचल प्रदेश का रहने वाला है। आरोपी युवती का नाम लालमल स्वामी है, वो मणिपुर की रहने वाली है। एसटीएफ को अंदेशा है कि दोनों युवक-युवती नाइजीरियन गैंग से जुड़े हो सकते हैं। फिलहाल पुलिस की जांच जारी है। हमारी आपसे अपील है कि फेसबुक, वॉट्सएप या दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर अनजान लोगों से दोस्ती ना करें। बैंक संबंधी डिटेल किसी को ना बताएं।


Uttarakhand News: Cyber fraud gang busted, Two arrested

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें