पहाड़ में आफत की बारिश..बदरीनाथ हाईवे 3 दिन से बंद, कई यात्री फंसे, कई लोगों को आई चोटें

बदरीनाथ जाने वाले यात्रियों के लिए जरूरी खबर है, रास्ता तीन दिन से बंद पड़ा है। इसलिए जरा संभलकर ही जाएं।

badrinath higway land slide - उत्तराखंड न्यूज, चारधाम यात्रा, बदरीनाथ हाईवे, बदरीनाथ यात्रा, चार धाम यात्रा उत्तराखंड, लामबगढ़ भूस्खलन, Uttarakhand News, Chardham Yatra, Badrinath Highway, Badrinath Yatra, Char Dham Yatra Uttarakh, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

उत्तराखंड में लगातार खराब मौसम की वजह से चारधाम यात्रा बुरी तरह प्रभावित हो रही है। चमोली में चट्टान से गिरे मलबे की वजह से बदरीनाथ हाईवे शनिवार को भी बंद रहा। तीन दिन हो चुके हैं और रास्ता वाहनों के लिए बंद पड़ा है। हाईवे पर लगातार पहाड़ी से मलबा आ रहा है और ये खतरनाक साबित हो सकता है। शुक्रवार से ही लामबगड़ से पैदल आवाजाही हो रही है। शनिवार को पैदल आवाजाही करने वालों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। पहाड़ी से लगातार पत्थर आने की वजह से 4 यात्रियों को हल्की चोटें आई। सड़क पर गाड़ियों की कतार लगी रही। इससे पहले रास्ते में फंसे 400 तीर्थयात्रियों को पैदल चल कर अपने गंतव्य तक पहुंचना पड़ा। पुलिस और एसडीआरएफ की टीमें यात्रियों की मदद में जुटी रहीं। इन टीमों ने ने यात्रियों को पैदल आवाजाही करा कर उनके गंतव्य के लिए रवाना किया। रास्ता बंद होने की वजह से सैकड़ों यात्री बदरीनाथ धाम में रुके हुए थे। आवाजाही का कोई साधन नहीं रहा तो उन्हें पैदल यात्रा करा कर उनके गंतव्य के लिए रवाना किया गया। रास्ता बंद होने हे बावजूद 5 सौ यात्री बदरीनाथ धाम की तीर्थयात्रा पर पैदल ही निकल पड़े हैं। लामबगड़ में हालात फिलहाल सुधरने की उम्मीद नहीं है। बताया जा रहा है कि हाईवे खुलने में अभी एक दिन और लगेगा।

यह भी पढें - टिहरी झील में पैदा हो रही है खतरनाक मीथेन गैस , वैज्ञानिकों ने दिया बड़े खतरे का संकेत
चट्टान से मलबा और बोल्डर लगातार हाईवे पर गिर रहे हैं। 300 मीटर हाईवे बुरी तरह क्षतिग्रस्त है। बुधवार को हाईवे पर मलबा गिरा था। जिसे जेसीबी की मदद से गुरुवार को हटाया गया, पर शाम को फिर बारिश हो गई। जिसके बाद चट्टान से मलबा और बोल्डर फिर हाईवे पर गिर गए। आने जाने का कोई साधन ना बचा तो मजदूर एनएच में पैदल आवाजाही के लिए रास्ता बनाने लगे। मजदूरों ने कड़ी मेहनत कर लामबगड़ में पैदल आवाजाही के लिए रास्ता बना भी लिया गया। रास्ता बना तो बदरीनाथ में रुके 4 सौ यात्रियों को उनके गंतव्य के लिए भेज दिया गया। इसके साथ ही रास्ते में फंसे 500 यात्रियों को लामबगड़ से पैदल भेजने के बाद में वाहनों से बदरीनाथ पहुंचाया गया। हाईवे खोलने में फिलहाल दिक्कतें आ रही हैं। मौसम खराब है, जिस वजह से निर्माण कार्य प्रभावित हो रहा है। हाईवे खुलने में अभी दो दिन का वक्त और लगेगा। रविवार को हाईवे खुलने की उम्मीद है।


Uttarakhand News: badrinath higway land slide

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें