बाड़मेर में उत्तराखंड का सपूत शहीद, 25 साल की उम्र में चला गया..मौसी ने दिया अर्थी को कंधा

एक बार फिर से उत्तराखंड का एक जवान शहीद हो गया। जेती गांव के शहीद गणेश रावत के जाने के गांव में मातम पसरा है।

uttarakhand shaheed ganesh rawat - उत्तराखंड न्यूज, शहीद गणेश रावत, गणेश रावत मुनस्यारी, मुनस्यारी गणेश रावत, Uttarakhand News, Shaheed Ganesh Rawat, Ganesh Rawat Munsiyari, Munsiyari Ganesh Rawat, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

ये देवभूमि है, वीरभूमि है। हर बार इस धरती के लालों ने मातृभूमि के लिए अपने प्राण न्यौछावर किए हैं। एक बार फिर से देवभूमि का एक लाल शहीद हो गया। जी हां हम बात कर रहे हैं मुनस्यारी के जेती गांव के सपूत गणेश रावत की, जो कि 25 साल की उम्र में ही ऑन ड्यूटी शहीद हो गए। शहीद गणेश रावत का पार्थिव शरीर आज हेलीकॉप्टर से मुनस्यारी पहुंचा। राजस्थान के बाड़मेर की पहाड़ी पर इनका वाहन ऑनड्यूटी दुर्घटनाग्रस्त हुआ था। गणेश की उम्र मात्र 25 वर्ष है। 2014 में एयरफोर्स में भर्ती हुए थे और वर्तमान में राजस्थान में तैनात थे। अपने बेटे को तिरंगे में लिपटा देख मां-बाप फूंट-फूट कर रोने लगे। सहीद गणेश रावत के जाने से मुनस्यारी क्षेत्र में शोक की लहर। शहीद जवान की मौसी ने अर्थी को कंधा दिया। आगे देखिए तस्वीरें

1/4 बाड़मेर में हुआ था हादसा
uttarakhand shaheed ganesh rawat

आपको बता दें कि बाड़मेर के चौहटन में एक दर्दनाक हादसा हुआ था।उपखंड पहाड़ी हिल टॉप सड़क से सेना का एक वाहन नीचे गिर गया था।

2/4 तीन जवानों की हुई थी मौत
uttarakhand shaheed ganesh rawat

इस हादसे में तीन जवानों की मौत हो गई थी और 3 जवान गंभीर रूप से घायल हैं। खबर है कि ट्रक में सेना के कुल 8 जवान सवार थे।

3/4 सिक्किम में भी हुआ था हादसा
uttarakhand shaheed ganesh rawat

ऐसा ही एक हादसा कुछ वक्त पहले सिक्किम में भी हुआ था। उस हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ था।

4/4 शहीद गणेश रावत को आखिरी सलाम
uttarakhand shaheed ganesh rawat

शहीद गणेश रावत ने छोटी सी उम्र में ही सेना ज्वॉइन कर ली थी। बेटा सेना में गया तो मां-पिता की उम्मीदें जग गई थीं।


Uttarakhand News: uttarakhand shaheed ganesh rawat

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें