पहाड़ में मौत बनकर टूटी बारिश, जिंदा दफन हुए 4 लोग..रोकी गई केदारनाथ यात्रा

उत्तरकाशी के आराकोट में बारिश से भारी तबाही हुई है, लोग घर छोड़ कर पहाड़ों का रुख कर रहे हैं ताकि अपनी जान बचा सकें...

kedarnath yatra abrupts due to heavy rain - केदारनाथ,उत्तरकाशी,आराकोट,भारी बारिश,रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड हाईवे,केदारनाथ न्यूज,उत्तरकाशी न्यूज,मौसम समाचार,Kedarnath,Uttarkashi,Rudraprayag-Gaurikund Highway,Kedarnath News,Uttarkashi News,Weather New, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

आफत की बारिश ने उत्तरकाशी में जमकर तबाही मचाई है, यहां आसमान से बरसी आफत के चलते 4 लोग जमीन में जिंदा दफन हो गए। एक बच्चा बरसाती नाले में बह गया। जबकि तीन लोग मकान के मलबे में दबे हैं। हालात लगातार बिगड़ रहे हैं। प्रभावित गांवों तक प्रशासन की मदद भी नहीं पहुंच पा रही, क्योंकि सड़कें बंद हैं। उत्तरकाशी के आराकोट और मकौड़ी गांव में गदेरे उफान पर हैं। कई गांव भूस्खलन की जद में आ गए हैं। आधा दर्जन गांवों के लोग घरों को छोड़कर जंगल की तरफ चले गए हैं, ताकि अपनी जान बचा सकें। आराकोट में एक बच्चा उफनते बरसाती नाले में बग गया। एक मकान के जमींदोज होने की भी खबर है। मकान में रहने वाली महिला और बच्ची मलबे में दबे हैं। मकौड़ी गांव में भी बारिश ने तबाही मचाई है। यहां एक महिला मलबे में दब गई है। दो दर्जन से ज्यादा मकानों में मलबा जमा है। पैदल रास्ते और पुलिया बारिश की भेंट चढ़ गए हैं।

1/2 गांवों में भारी नुकसान
uttarakashi heavy rain news

उत्तरकाशी के चिवां, गोकुल, माकुड़ी, मौंडा खकवाड़ी, मोल्डी, टिकोची जैसे गांवों में भी भारी नुकसान हुआ है। टिकोची में बादल फटने के बाद पूरा बाजार भूस्खलन की चपेट में आ गया। यहां 7 गाड़ियां मलबे में दब गईं। कुल मिलाकर उत्तरकाशी में हर जगह बस तबाही नजर आ रही है। एक स्कूल के भी जमींदोज होने की खबर है। इलाके का मेन पुल बह गया है। आराकोट में 10 पुलिया बह गई हैं। लोग घर छोड़कर पहाड़ों का रुख कर रहे हैं। प्रदेश के दूसरे इलाकों का भी यही हाल है। चमोली के पैनी और सेलंग में 5 दुकानें बरसाती नाले की भेंट चढ़ गईं। बदरीनाथ हाईवे का दस मीटर हिस्सा बह गया। बारिश की वजह से चारधाम यात्रा बुरी तरह प्रभावित हुई है। पौड़ी-श्रीनगर रोड मल्ली के पास बंद है।

2/2 रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड हाईवे भी बंद
kedarnath yatra abrupts

रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड हाईवे भी जगह-जगह बंद है। चमोली जिले के 19 मोटरमार्गों पर गाड़ियों की आवाजाही नहीं हो रही। प्रशासन ने एहतियात बरतते हुए केदारनाथ धाम में पैदल यात्रा रोक दी गई है। साढ़े तीन सौ से ज्यादा यात्री जगह-जगह फंसे हैं। गढ़वाल से लेकर कुमाऊं तक हाहाकार मचा है। पिथौरागढ़ के गणाईगंगोली इलाके में एक मकान ढह गया। उत्तराखंड के हर जिले से तबाही की दिल दहला देने वाली तस्वीरें आ रही हैं। बारिश से तबाही का दौर फिलहाल थमने नहीं वाला। क्योंकि राज्य मौसम केंद्र ने अगले 24 घंटों में 9 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी दी है। नैनीताल, पौड़ी, चंपावत, पिथौरागढ़, देहरादून, रुद्रप्रयाग, टिहरी, उत्तरकाशी और ऊधमसिंहनगर में भारी बारिश होने की संभावना है। इन जिलों के लोग सतर्क रहें।


Uttarakhand News: kedarnath yatra abrupts due to heavy rain

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें