Connect with us
Image: DEEPAK RAWAT AND JANMEJAY KHANDURI

देवभूमि के दो तेजतर्रार अफसरों ने शुरू की बड़ी तैयारी, इतिहास रचने को तैयार दो दोस्त

मेलाधिकारी दीपक रावत और कुंभ एसएसपी जन्मेजय खंडूड़ी एक बार फिर एक्शन में दिख रहे हैं, हाल ही में दोनों अधिकारियों ने महाकुंभ की तैयारियों का जायजा लिया...

दोस्ती...ज़िदगीभर का एक रिश्ता, एक सच्चा दोस्त ही जानता है उसके दोस्त की जरूरतें क्या हैं। यूं ही सच्चे दोस्त को सुख दुख का साथी नहीं कहते। ये कहावत उत्तराखंड के दो बड़े और चर्चित अधिकारियों पर फिट बैठती है। ये दो नाम आज पहचान के मोहताज नहीं हैं। जी हां हम बात कर रहे हैं, IAS दीपक रावत और एसएसपी जनिमेजय खंडूरी की। खास बात ये है कि दोनों अफसरों की आपस में खूब बनती है। ये दोनों ही अधिकारी हरिद्वार से पहले नैनीताल जिले में साथ में काम कर चुके हैं। अब एक बार फिर से दोनों की जोड़ी हरिद्वार में है। साल 2021 में उत्तराखंड में महाकुंभ का आयोजन होगा। हरिद्वार महाकुंभ की तैयारियां जारी हैं। हरिद्वार कुंभ के मेलाधिकारी की जिम्मेदारी आईएएस दीपक रावत को मिली है। दीपक रावत पहले हरिद्वार जिले के डीएम के तौर पर अपनी सेवाएं दे रहे थे। कुछ दिन पहले ही उन्हें कुंभ का मेलाधिकारी बनाया गया है। इसी तरह हरिद्वार के एसएसपी रहे जन्मेजय खंडूरी को भी अब कुंभ एसएसपी बनाया गया है। ये दोनों ही अफसर सूबे के तेजतर्रार अफसरों के तौर पर जाने जाते हैं। नई जिम्मेदारी मिलने के साथ ही दोनों महाकुंभ के आयोजन को सफल बनाने की तैयारी में जुट गए हैं। हाल ही में कुंभ मेला अधिकारी दीपक रावत और कुंभ एसएसपी जन्मेजय खंडूरी ने महाकुंभ आयोजन स्थल का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने महाकुंभ के लिए हो रहे कामों को बारीकी से परखा। उन्होंने कर्मचारियों को अधूरे काम को जल्द पूरा करने के निर्देश दिए, ताकि कुंभ मेले के दौरान हरिद्वार आने वाले तीर्थयात्रियों को परेशानी ना हो।
आगे पढ़ें...

यह भी पढें - IAS दीपक रावत ने दिखाई इंसानियत, ऐसे बने गरीब रिक्शा वाले के मददगार..देखिए
मेलाधिकारी दीपक रावत ने कहा कि कुंभ मेले से पहले स्टेशन पर दो फ्लाईओवर बनवाए जाएंगे। कुंभ के दौरान होने वाली भीड़ को कंट्रोल करने के लिए ये बेहद जरूरी है। मेले के दौरान कोई हादसा ना हो, इसके लिए सबसे पहले स्टेशन पर दो फ्लाईओवर का निर्माण कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि कुंभ मेले के दौरान रेलवे स्टेशन पर काफी दबाव रहता है। लोगों की भीड़ होती है, जिससे हादसे की आशंका बनी रहती है। यात्रियों को सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए रेलवे स्टेशन पर फ्लाईओवर का काम कराया जाएगा। कांवड़ मेला खत्म हो जाने के बाद जो कांवड़ पटरी खाली रहती है, उसका इस्तेमाल महाकुंभ के दौरान किया जाएगा। पटरी को सबसे पहले दुरुस्त किया जाएगा, बाद में इस पर वाहनों को चलाया जाएगा। कुंभ के दौरान हर की पैड़ी पर सबसे ज्यादा भीड़ रहती है, इस दबाव को कम करने की कोशिश की जाएगी। मेला प्रशासन की तैयारी जारी है। अधिकारियों की कोशिश है कि कुंभ मेले से जुड़े सभी काम समय रहते पूरे हो जाएं।

वीडियो : उत्तराखंड में मौजूद है परीलोक...जानिए खैंट पर्वत के रहस्य
वीडियो : DM स्वाति भदौरिया से खास बातचीत
वीडियो : उत्तराखंड का अमृत: किलमोड़ा
Loading...
Loading...

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

Loading...

वायरल वीडियो

Loading...

इमेज गैलरी

Trending

SEARCH

To Top