उत्तराखंड: शादी से खुश नहीं थी अपूर्वा, इन 6 वजहों से हुई रोहित की हत्या

अपूर्वा शादी से खुश नहीं थी, ना तो उसे प्रॉपर्टी मिली और ना ही अपनापन, रोहित की भाभी से बढ़ती नजदीकियां भी उसे खटक रही थीं...

Rohit shekhar murder mistry - Rohit shekhar murder, apoorva rohit shekhar, rohit shekhar murder uttarakhand, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

रोहित शेखर की हत्या कोई एक सेकेंड के आवेश में लिया गया फैसला नहीं थी, ये उस कुंठा का नतीजा थी जो कि पत्नी अपूर्वा के मन में महीनों से पनप रही थी। अपूर्वा-रोहित के संबंध ठीक नहीं थे। संपत्ति के लालच में अपूर्वा ने रोहित से शादी तो कर ली थी, लेकिन शादी के बाद उसे पता चला कि जैसा वो सोच रही थी, वैसा था नहीं। रोहित के पास संपत्ति के नाम पर कुछ नहीं था। जो प्रॉपर्टी उनके पास थी भी वो भी सास उज्जवला के नाम पर थी। हाल ही में दिल्ली पुलिस ने इस मामले में चार्जशीट फाइल की है, जिसमें रोहित की हत्या की कई वजहें बताई गई हैं। रोहित शेखर की हत्या के पीछे चार अहम वजहें थीं। ये वजहें कौन-कौन सी थीं चलिए बताते हैं। अपूर्वा इंदौर की रहने वाली हैं और वकील हैं। वो एक बड़े परिवार से ताल्लुक रखती हैं। साल 2017 में वो मेट्रीमोनियल साइट के जरिए रोहित शेखर के संपर्क में आई। अपूर्वा ने सोचा रोहित यूपी-उत्तराखंड के पूर्व सीएम एनडी तिवारी का बेटा है, उसके पास अकूत संपत्ति होगी। लेकिन सच्चाई का पता अपूर्वा को शादी के बाद पता चला। हाईप्रोफाइल लाइफ की चाह में अपूर्वा ने रोहित से शादी तो कर ली। लेकिन जब वो रोहित के साथ दिल्ली आई तो उसे पता चला कि रोहित के पास कोई प्रॉपर्टी नहीं है। तिलक लेन में जहां उज्जवला रहती हैं, वो सरकारी क्वार्टर है। डिफेंस कॉलोनी में जो घर है वो भी उज्जवला के नाम पर है। उज्जवला की मौत के बाद 60 फीसदी प्रॉपर्टी रोहित और 40 फीसदी दूसरे बेटे सिद्धार्थ को मिलती।

अपूर्वा और रोहित के बीच अनबन पहले से ही थी। उस पर रोहित को एक महिला रिश्तेदार के साथ शराब पीते देख अपूर्वा गुस्सा हो गई थी। 15 अप्रैल की रात रोहित और उनकी भाभी कुमकुम ने कार में एक साथ शराब पी। वॉट्सएप पर वीडियो कॉल के दौरान अपूर्वा ने ये देख लिया और नाराज हो गई। उसी वक्त उसने रोहित को सबक सिखाने का फैसला कर लिया था। वापस लौटने पर रोहित ने अपूर्वा को और चिढ़ा दिया था। इसी दौरान गुस्से में अपूर्वा ने रोहित की हत्या कर दी। बता दें कि 15 अप्रैल को रोहित शेखर की मौत हो गई थी। पहले मौत की वजह हार्ट अटैक या ब्रेन हेमरेज होना कही जा रही थी, पर जांच में पता चला कि ये स्वाभाविक मौत नहीं बल्कि हत्या का मामला है। सीसीटीवी में अपूर्वा रात एक बजे रोहित के कमरे में जाते और ढाई बजे वहां से निकलती दिखी थी। कड़ी पूछताछ के बाद अपूर्वा टूट गई और उसने रोहित की हत्या का बात कुबूल कर ली। 24 अप्रैल को क्राइम ब्रांच ने अपूर्वा को गिरफ्तार कर लिया था। तब से वो जेल में है। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने गुरुवार को अपूर्वा के खिलाफ साकेत कोर्ट में आरोप पत्र दायर कर दिया। शुक्रवार को कोर्ट आरोप पत्र पर संज्ञान लेगी।


Uttarakhand News: Rohit shekhar murder mistry

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें