पहाड़ में छात्रा की दर्दनाक मौत, गुस्साए लोगों ने किया प्रदर्शन

कर्णप्रयाग में हादसों की पुलिया लोगों की जान ले रही है, लेकिन प्रशासन है कि जागने का नाम नहीं ले रहा...

student died in karnprayag people protest - उत्तराखंड,उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, कर्णप्रयाग छात्रा डेथ, कर्णप्रयाग छात्रा की मौत, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Karnprayag Schoolgirl Death, Karnaprang Sch, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

उत्तराखंड को हादसों का प्रदेश यूं ही नहीं कहा जाता। यहां ना तो गाड़ियों का सफर आसान है, और ना ही सड़कों पर चलना...सड़कों की हालत तो पूछिए ही मत। कई जगह तो सड़कें इतनी संकरी हैं कि गाड़ियों की आवाजाही तो मुश्किल होती ही है, लोग पैदल भी नहीं चल पाते। अब कर्णप्रयाग में ही देख लें, यहां एक छात्रा की पुलिया से गिरकर मौत हो गई। छात्रा की मौत के बाद जो बवाल शुरू हुआ है, वो थमने का नाम नहीं ले रहा। लोगों ने छात्रा की मौत के लिए एनएच को जिम्मेदार ठहराया। गुस्साए लोगों ने कर्णप्रयाग के लंगासू में विरोध प्रदर्शन किया। प्रशासन के खिलाफ नारे लगाए। सूचना मिलते ही एसडीएम और पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराया। ग्रामीणों का आरोप है कि जिस जगह छात्रा हादसे का शिकार हुई, वहां रोड संकरी है। इस सड़क पर लगातार गाड़ियों की आवाजाही होती है। कई बार लोग सड़क अपने बचाव के लिए सड़क किनारे खड़े हो जाते हैं। पर क्योंकि किनारों पर खड़े होने की जगह ही नहीं है, इसीलिए वो हादसे का शिकार हो जाते हैं। यहां पहले भी कई हादसे हो चुके हैं।

यह भी पढें - रुद्रप्रयाग में भूस्खलन से तबाही, घरों से बाहर भागे लोग...अब 7 जिलों में अलर्ट जारी
कुछ दिन पहले कालेश्वर में पुरानी पुलिया के पास एक बस बेकाबू होकर खाई में गिर गई थी। अब पुलिया से गिरने की वजह से एक छात्रा की मौत हो गई। लगातार हादसे हो रहे हैं, पर एनएच ने सुरक्षा के जरूरी इंतजाम अब तक नहीं किए। बारिश का दौर शुरू हो गया है, ऑल वेदर रूट का काम भी जारी है। इसका सीधा मतलब ये है कि सड़क के चौड़ीकरण का काम ठप हो जाएगा। जगह-जगह सड़कें खुदी हुई हैं, जिस वजह से हादसे हो रहे हैं। वहीं एसडीएम कर्णप्रयाग देवानंद शर्मा ने लोगों को इस मामले में जल्द एक्शन लेने का आश्वासन दिया है। एसडीएम ने एनएच अधिकारियों के साथ मिलकर घटनास्थल का निरीक्षण भी किया। उन्होंने अधिकारियों को सुरक्षा मानक पूरे करने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि अगर भविष्य में कार्यदायी संस्था की लापरवाही से हादसे होंगे तो जरूरी कार्रवाई की जाएगी। आपको बता दें कि बुधवार को लंगासू में 16 साल की छात्रा की पुलिया से गिरने की वजह से मौत हो गई थी। लोगों ने छात्रा की मौत के लिए प्रशासन को जिम्मेदार बताया।


Uttarakhand News: student died in karnprayag people protest

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें