ऋषिकेश के शिवपुरी में दर्दनाक हादसा...गंगा में डूबे 3 युवक..एक की लाश मिली

राफ्टिंग के बाद गंगा में नहाने गया युवक नदी में डूबने लगा, उसे बचाने के लिए दो दोस्तों ने भी नदी में छलांग लगा दी, पर तीनों ही वापस नहीं लौट सके...

Three youth of gujarat drown in ganga river - उत्तराखंड शिवपुरी हादसा, शिवपुरी गंगा में डूबे युवक, गंगा नदी शिवपुरी हादसा, उत्तराखंड गंगा नदी शिवपुरी, Uttarakhand Shivpuri accident, Shivpuri immersed in Ganges, Ganges river Shivpuri accident, Utt, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

गुजरात से चारधाम यात्रा पर उत्तराखंड आए तीन युवक गंगा नदी में डूब गए। एक युवक की लाश पुलिस ने बरामद कर ली है, जबकि दो युवक अब भी लापता हैं। उनके बारे में अब तक कोई सुराग नहीं लग पाया है। हादसा बदरीनाथ हाईवे पर शिवपुरी के पास हुआ, जहां 15 लड़कों का ग्रुप रीवर राफ्टिंग के लिए आया हुआ था। रीवर राफ्टिंग के बाद एक युवक गंगा में नहाने लगा। उसे चेतावनी भी दी गई, पर युवक ने सुना नहीं। देखते ही देखते युवक गंगा में डूबने लगा। उसे बचाने के लिए दो दोस्तों ने भी पानी में छलांग लगा दी, पर तीनों में से कोई वापस नहीं लौटा। हादसे की सूचना मिलने पर मुनिकीरेती पुलिस मौके पर पहुंची और एसडीआरएफ की टीम के साथ रेस्क्यू अभियान शुरू कर दिया। एक युवक की लाश बरामद कर ली गई है। आगे पढ़िए पूरी कहानी

यह भी पढें - केदारनाथ पर मंडरा रहा है बड़ा खतरा...अंतरिक्ष ने सैटेलाइट इमेज से दिए बुरे संकेत
गुजरात में रहने वाले 15 लड़कों का एक ग्रुप 18 जून को चारधाम यात्रा पर उत्तराखंड आया हुआ था। यात्रा खत्म होने के बाद ये सभी लोग शुक्रवार को शिवपुरी पहुंच गए। रीवर राफ्टिंग का प्लान भी बन गया। राफ्टिंग के बाद 22 साल का फेनिल ठक्कर गंगा में नहाने चला गया। राफ्टिंग गाइड ने उसे चेतावनी भी दी, पर फेनिल ने सुना नहीं। इसी दौरान युवक का पैर फिसल गया और वो गंगा में बहने लगा। फेनिल को बचाने के लिए 23 साल के कुणाल कोसाड़ी और 24 साल के जेनिश पटेल ने भी गंगा में छलांग लगा दी। दोनों ही युवकों को तैरना नहीं आता था, पर दोस्त को बचाने के लिए वो नदी में कूद पड़े। फेनिल ठक्कर की लाश पुलिस ने बरामद कर ली है, बताया जा रहा है कि फेनिल का गुजरात में अपना रेस्टोरेंट है। सभी युवक नौकरी पेशा और कारोबारी हैं। फेनिल को बचाने के लिए गंगा में बहे दो युवकों का अब तक पता नहीं चला है। अंधेरा होने की वजह से रेस्क्यू अभियान रोक दिया गया था। शनिवार सुबह एक बार फिर रेस्क्यू अभियान चलाया जाएगा। हमारी आपसे भी अपील है कि इन दिनों नदियों, तालाबों में नहाने से बचें। बरसात का मौसम है, नदियों का जलस्तर बड़ा हुआ है, ऐसे में जितना संभव हो नदी में जाने से बचें। दूसरे लोगों को भी ऐसा करने से रोकें।


Uttarakhand News: Three youth of gujarat drown in ganga river

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें