औली में 200 करोड़ की शाही शादी के बाद कचरे का ढेर...हाईकोर्ट ने दिए जांच के आदेश

बेटों की शादी करा कर गुप्ता बंधु तो चले गए, पर पीछे छूट गया कचरे का ढेर, जिसकी वजह से औली का पर्यावरण खतरे में है।

auli royal wedding highcourt - औली शाही शादी, औली गुप्ता बंधु शादी, औली गुप्ता शाही शादी, औली में शादी, औली डेस्टिनेशन वेडिंग, औली टूरिज्म, Auli Shahi Marriage, Auli Gupta Bandhu Marriage, Auli Gupta Shahi Weddings, Auli Marriage,, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

जिस बात का डर था, वही हुआ। बेटों की शादी कराकर गुप्ता जी तो औली से चले गए, लेकिन पीछे छोड़ गए टनों कचरे का पहाड़, जिसे साफ करने में प्रशासन के भी पसीने छूट रहे हैं। दो दिन पहले तक जो औली दुल्हन की तरह सजी हुई थी, आज उसकी हालत बद से बदतर है। नगर पालिका के कर्मचारी कचरा साफ करने में जुटे हुए हैं, पर जितने भी प्रयास किए जा रहे हैं वो काफी नहीं लग रहे। हाईकोर्ट ने इस मामले में जिलाधिकारी से रिपोर्ट मांगी है। हाईकोर्ट ने जिलाधिकारी से कहा है कि वो बताए कि 200 करोड़ के खर्चे से हुई शाही शादी के दौरान क्षेत्र में कितना कूड़ा फैला और पर्यावरण को कितना नुकसान हुआ है। डीएम को अपनी रिपोर्ट 7 जुलाई तक हाईकोर्ट को सौंपने के आदेश दिए गए हैं। रही बात गुप्ता बंधुओं की तो वो नगरपालिका जोशीमठ को 54000 रुपये देकर पल्ला झाड़ गए, कि चलो भाई हम तो चले अब कचरा तुम साफ करो। कचरा तो उठ जाएगा, लेकिन औली के पर्यावरण को जो नुकसान हुआ है उसकी भरपाई कौन करेगा।

यह भी पढें - दिल्ली में पहाड़ की मिताली चंदोला को बदमाशों ने मारी गोली...अस्पताल में भर्ती
हाल ही में चमोली के औली में मशहूर बिजनेसमैन गुप्ता बंधुओं के बेटों की शादी संपन्न हुई। विवाह समारोह 18 जून से शुरू होकर 22 जून तक चला। विवाह समारोह के लिए जिस तरह औली की सूरत बदली जा रही थी, उसे देख पर्यावरणप्रेमी पहले ही आशंका जता रहे थे कि ऐसे आयोजन औली के लिए ठीक नहीं। इस संबंध में एक याचिका भी हाईकोर्ट में लगाई गई थी। खैर तमाम आपत्तियों-विरोधों के बीच भव्य समारोह तो संपन्न हो गया, पर असली मुसीबत अब सामने आई है। शादी के बाद जगह-जगह बचा हुआ खाना गिरा हुआ है, जिसका निस्तारण नहीं हो पाया है। आवारा पशु शादी का बचा हुआ खाना खा रहे हैं। कचरे की तो पूछिए ही मत। 13 जून से लेकर अब तक नगर पालिका जोशीमठ ने औली से 188 कुंतल कचरा उठाया है, और ये काम अब भी जारी है। कूड़े की वजह से पर्यावरण को जो नुकसान हुआ है, प्रशासन उसकी रिपोर्ट बना रहा है। ये रिपोर्ट 7 जुलाई को हाईकोर्ट को सौंपी जाएगी। मामले में 8 जुलाई को सुनवाई होनी है।


Uttarakhand News: auli royal wedding highcourt

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें