मसूरी बनेगा देश का सबसे साफ हिल स्टेशन...नेस्ले और रेसिपी नेटवर्क ने छेड़ा अभियान

पर्यावरणप्रेमियों की कोशिशें रंग लाईं तो जल्द ही मसूरी देश का सबसे साफ हिल स्टेशन बन जाएगा..देखिए वॉल ऑफ होप्स की तस्वीरें

mussoorie wall of hopes - मसूरी, मसूरी पर्यटन, मसूरी टूरिज्म, मसूरी वॉल ऑफ होप्स, मसूरी मौसम, देहरादून टू मसूरी, दिल्ली टू मसूरी, Mussoorie, Mussoorie tours, Mussoorie tourism, Mussoorie wall of hopes, Mussoorie season, Dehrad, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

जो लोग पहाड़ों की रानी मसूरी से प्यार करते हैं, इसे हमेशा साफ और स्वच्छ देखना चाहते हैं, उनके लिए एक अच्छी खबर है। पर्यावरणप्रेमियों की कोशिशें रंग लाई तो जल्द ही मसूरी देश के सबसे साफ हिल स्टेशन के तौर पर पहचानी जाएगी। मसूरी को देश का सबसे स्वच्छ स्टेशन बनाने के लिए बड़े स्तर पर आंदोलन चल रहा है। नेस्ले इंडिया और रेसिपी नेटवर्क मिलकर इस आंदोलन का नेतृत्व कर रहे हैं। हाल ही में आंदोलन के तहत कैंपटी में बंगलों की कांटी इलाके में प्लास्टिक की बोतलों से एक विशाल कलाकृति बनाई गई है। इस कलाकृति को नाम दिया गया है वॉल ऑफ होप्स, जिसे बनाने के लिए 15 हजार प्लास्टिक की बोतलों का इस्तेमाल किया गया। ये कलाकृति बेहद शानदार है, जिसे देखने के लिए लोग दूर-दूर से मसूरी आ रहे हैं। पर्यटकों के बीच ये कलाकृति बेहद पॉप्युलर हो गई है। मसूरी में चल रहे आंदोलन के तहत पर्यटकों को जागरूक किया जा रहा है, उनसे यहां-वहां कूड़ा ना फेंकने की अपील की जा रही है। आगे देखिे तस्वीरें

1/4 बंगलो की कांडी गांव में बनी वॉल ऑफ होप्स
mussoorie wall of hopes

लोग सफाई के लिए प्रेरित हों और प्रकृति से प्यार करें, इसके लिए बंगलो की कांडी गांव में विशाल वॉल ऑफ होप्स बनाई गई है। जिसका उद्घाटन गांव के प्रधान रवि रांगड़ ने किया।

2/4 15 हजार प्लास्टिक की बोतलों से बनी दीवार
mussoorie wall of hopes

इस वॉल को बनाने का उद्देश्य लोगों को पर्यावरण को सहेजने के लिए प्रेरित करना और यहां-वहां कचरा फैलाने से रोकना है। इस विशाल और खूबसूरत कलाकृति को तैयार किया है कलाकार सुबोध केरकर ने, इसे बनाने का श्रेय जाता है म्यूजियम ऑफ गोवा फाउंडेशन को।

3/4 ये कलाकृति खराब नहीं होगी
mussoorie wall of hopes

इस वॉल की खासियत ये है कि ये कलाकृति हवा-पानी से भी खराब नहीं होगी। ये लोगों को जागरूक करेगी, साथ ही शहर का सौंदर्य भी बढ़ाएगी। कलाकृति के उद्घाटन के अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किए गए। मशहूर सितार वादक सूर्यमणि अग्नि शर्मा ने सितार की धुन पर संगीत पेश कर श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया।

4/4 मसूरी को बचाने के लिए आंदोलन
mussoorie wall of hopes

उम्मीद है मसूरी को बचाने के लिए चल रहे इस आंदोलन से बेहतर प्लास्टिक कचरा प्रबंधन में मदद मिलेगी, जिसकी बेहद जरूरत है। वॉल ऑफ होप्स एक सराहनीय प्रयास है, जिसके अच्छे नतीजे जल्द देखने को मिलेंगे।


Uttarakhand News: mussoorie wall of hopes

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें