देवभूमि में 9 साल की बच्ची से हैवानियत..वो हाथ जोड़ती रही, दरिंदे को दया नहीं आई

टिहरी के नैनबाग में 32 साल के युवक ने 9 साल की दलित बच्ची संग हैवानियत की...पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

GIRL MOLESTATION IN TEHRI GARHWAL - उत्तराखंड, टिहरी गढ़वाल दलित बच्ची रेप, टिहरी दलित बच्ची रेप, उत्तराखंड क्राइम, उत्तराखंड गर्ल रेप,Uttarakhand, Tehri Garhwal Dalit child's rape, Tehri Dalit child's rape, Uttarakhand crime, Uttarakha, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

बच्चे मासूम होते हैं, सही-गलत का फर्क नहीं समझ पाते, इसीलिए उन्हें सुरक्षा और संरक्षण की जरूरत होती है। हर इंसान का फर्ज बनता है कि वो इन्हें सुरक्षा दे...ये बात हर समाज में सर्वमान्य है, लेकिन कड़वा सच ये भी है कि आज जघन्य अपराधों के ज्यादातर शिकार बच्चे ही होते हैं। पहाड़ भी ऐसी घटनाओं से अछूता नहीं है। पहाड़ को दहला देने वाला ऐसा ही एक मामला टिहरी में सामने आया है, जहां नैनबाग के सेंदुल गांव में रहने वाले 32 साल के आदमी ने 9 साल की मासूम के साथ दुष्कर्म किया। बच्ची चीखती रही, छोड़ देने की मिन्नतें करती रही, लेकिन आरोपी हैवान को उस पर तरस नहीं आया। पीड़ित बच्ची दलित परिवार से है, इस घटना के बाद इलाके में बवाल मचा हुआ है। पता चला है कि आरोपी इलाके में ही परचून की दुकान चलाता है, यही नहीं वो शादीशुदा भी है। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपी के खिलाफ पोक्सो और एससी-एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। आरोपी पुलिस की गिरफ्त में है। वहीं बच्ची के पिता का कहना है कि गांव के ही कुछ दबंग उन पर रिपोर्ट वापस लेने का दबाव बना रहे हैं। बच्ची के साथ ही पूरे परिवार की जान खतरे में है। आगे जानिए पूरा मामला..

यह भी पढें - उत्तराखंड: जहर खाने से फौजी की पत्नी की मौत ...5 महीने पहले ही हुई थी शादी
पीड़ित बच्ची की पिता खेती-मजदूरी करते हैं। गुरुवार को भी वो रोज की तरह काम पर गए हुए थे। घर में बच्ची और उसकी मां अकेली थी। इसी दौरान आरोपी विपिन पंवार बच्ची को बहला-फुसलाकर अपने साथ ले गया और अपनी दुकान के पीछे बने कमरे में उसके साथ दरिंदगी की। बच्ची जब बदहवास हालत में घर पहुंची तो उसकी हालत देख परिजन घबरा गए। बच्ची लगातार पेट दर्द होने की शिकायत कर रही थी। मां ने बच्ची से इसकी वजह पूछी तो बच्ची ने उसे सबकुछ बता दिया। ये सुनते ही परिजनों पर मानों दुखों का पहाड़ टूट पड़ा, बेटी पर जो गुजरी थी उसने माता-पिता को तोड़ कर रख दिया। पर उन्होंने हिम्मत जुटाई और पुलिस से शिकायत कर दी। बच्ची को इलाज के लिए दून अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बता दें कि नैनबाग वही क्षेत्र है जहां एक महीने पहले दलित युवक को सवर्ण दबंगों ने केवल इसलिए मार दिया था, क्योंकि वो उनके सामने कुर्सी पर बैठकर खाना खा रहा था। दलित बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना ने एक बार फिर जौनसार क्षेत्र की छवि खराब की है। मामले की गंभीरता को देखते हुए बच्ची के परिवार को पुलिस सुरक्षा मुहैया की गई है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।


Uttarakhand News: GIRL MOLESTATION IN TEHRI GARHWAL

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें