उत्तराखंड का बेहद खौफनाक हत्याकांड..पत्नी ने अपने प्रेमी के लिए पति को मरवा दिया

अवतार ने कभी सोचा भी नहीं होगा कि बेइंतहा प्यार के चलते जिस नीलम को वो अपनी पत्नी बनाकर लाया है, एक दिन वो ही उसकी जान ले लेगी।

awtar murder mistry of uttarakhand - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, भीमताल कार जली, हल्द्वानी न्यूज, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Bhimtal Car Jali, Haldwani News, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

पहाड़ को हिलाकर रख देने वाले अवतार सिंह हत्याकांड में जो खुलासा हुआ है, उसने पुलिस को भी हैरान कर दिया है। अवतार सिंह को मौत के घाट उतारने वाला कोई और नहीं, बल्कि पत्नी नीलम चौधरी ही थी। अवतार सिंह ने नीलम से लव मैरिज की थी, अवतार सिंह मूलरूप से हरियाणा के अंबाला का रहने वाला था, जबकि नीलम बागेश्वर की रहने वाली है। दोनों की जिंदगी सामान्य चल रही थी, लेकिन अचानक इस प्रेम कहानी में मनीष मिश्रा की एंट्री हो गई। नीलम और मनीष के बीच नजदीकियां बढ़ने लगीं तो वो पति अवतार से दूर होती चली गई। जब अवतार को दोनों के रिश्ते की भनक लगी तो उसने विरोध किया, बस यही विरोध अवतार की मौत की वजह बन गया। पति ने नीलम को टोका तो उसने ब्वॉयफ्रेंड मनीष के साथ मिलकर पति को मौत के घाट उतारने की योजना बना ली। दोनों पिछले कई महीने से अपनी योजना को अंजाम देने की ताक में थे। चलिए अब आपको बताते हैं कि घटना वाले दिन हुआ क्या था।

यह भी पढें - उत्तराखंड: जहर खाने से फौजी की पत्नी की मौत ...5 महीने पहले ही हुई थी शादी
16 मई को नीलम ने अवतार सिंह की हत्या करने से पहले उसे घर पर ही ग्लूकॉन डी में नींद की दस गोलियां घोलकर पिला दीं थीं। बेहोश होने पर नीलम के दोस्त मनीष मिश्रा ने अपने साथी अजय यादव की मदद से सलड़ी में अवतार का गला घोंटा और पेट्रोल से जलाकर मार डाला। नीलम और उसका ब्वॉयफ्रेंड मनीष अब पुलिस कस्टडी में है, जबकि तीसरा आरोपी फरार है। बुधवार को पुलिस ने इस सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा किया। पति को रास्ते से हटाने के लिए नीलम ने प्लानिंग तो अच्छी की थी, लेकिन पुलिस के सामने उसकी सारी योजना धरी की धरी रह गई। अवतार सिंह की हत्या के बाद नीलम ने पुलिस को चकमा देने के लिए उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज करा दी थी, पर नीलम की ये चालाकी काम नहीं आई। अवतार सिंह के पिता ने जब बहू के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया तो पुलिस का शक यकीन में बदल गया।

यह भी पढें - बदरीनाथ जा रहे यात्रियों की बस खाई में गिरने वाली थी, चमत्कार से बची 26 लोगों की जान
दरअसल नीलम की सिक्योरिटी एजेंसी में कार्यरत मनीष मिश्रा से नजदीकियां बढ़ गईं थीं, जो कि अवतार सिंह को रास नहीं आईं। अवतार सिंह को ठिकाने लगाने के लिए मनीष ने अपने दोस्त अजय यादव की मदद ली थी। आरोपी मनीष प्रयागराज जिले के नंदोत फूलपुर का रहने वाला है। हत्याकांड के मुख्य आरोपी पुलिस कस्टडी में हैं, जबकि मनीष का दोस्त अजय यादव फरार है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। आपको बता दें कि 16 मई की शाम सलड़ी में एक लग्जरी कार धू-धू कर जल रही थी। आग बुझने के बाद उसमें से पुलिस को एक लाश मिली थी। शव की शिनाख्त रुद्रपुर जिले के सामिया हाउसिंग सोसायटी निवासी अवतार सिंह चौधरी पुत्र गुलजार के रूप में हुई, जो कि सिडकुल में लेबर सप्लाई का काम करता था। पुलिस पूछताछ में आरोपी नीलम और मनीष ने अवतार की हत्या की बात कबूली है।


Uttarakhand News: awtar murder mistry of uttarakhand

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें