मैंने रोहित को आगाह किया था.. लेकिन वो समझा नहीं" - उज्जवला तिवारी का सनसनीखेज खुलासा

रोहित हत्याकांड को लेकर उनकी मां उज्जवला ने कई सनसनीखेज खुलासे किए हैं, उन्होंने बताया कि किस तरह अपूर्वा की महत्वाकांक्षा ने रोहित की जान ले ली।

warned Rohit but did not listened says ujjwala tiwari - रोहित शेखर हत्याकांड, रोहित शेखर तिवारी, उज्ज्वला तिवारी, एन डी तिवारी, अपूर्वा तिवारी, rohit shekhar murder, rohit shekhar tiwari, ujjwala tiwari, ND Tiwari, apoorva tiwari, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

कहते हैं प्यार अंधा होता है...इसीलिए जब प्यार और रिश्तों के बीच अपराधिक सोच पनपने लगती है तो इन्सान इस तरफ ध्यान ही नहीं देता...यही अपराधिक सोच बाद में गुनाह में तब्दील हो जाती है। रोहित शेखर के मामले में भी ऐसा ही हुआ। मां उज्जवला ने उन्हें कई बार आगाह किया था, बहू के खतरनाक इरादों के बारे में बताया था, लेकिन शायद ये उज्जवला ने भी नहीं सोचा था कि बहू अपूर्वा प्रॉपर्टी हासिल करने की अपनी सनक के लिए रोहित का खून करने तक कर देगी। पहले पति और फिर बेटे को खो चुकी उज्जवला तिवारी अब बुरी तरह टूट गई हैं। हाल ही में उन्होंने रोहित शेखर की हत्या की आरोपी अपूर्वा को लेकर सनसनीखेज खुलासे किए हैं। उज्ज्वला ने बताया कि उन्होंने रोहित को अपूर्वा के इरादों के बारे में बताया था, लेकिन रोहित ने ध्यान नहीं दिया। सितंबर 2018 में जब रोहित की बाईपास सर्जरी हुई थी तो अपूर्वा उसका ख्याल रखने की बजाय उस पर निराधार आरोप लगाकर कानूनी नोटिस भेज रही थी। वो हमेशा से मुझे मेरे बेटे रोहित से अलग करना चाहती थी। अपूर्वा बहुत महत्वाकांक्षी थी, और उसकी इसी महत्वाकांक्षा ने रोहित की जान ले ली।

यह भी पढें - उत्तराखंड: प्रॉपर्टी के लालच में हत्यारी बनी अपूर्वा? रोहित से तलाक लेने की तैयारी में थी
उज्जवला कहती हैं कि शादी के कुछ दिन बाद रोहित और अपूर्वा मसूरी घूमने गए थे। वहां पहले दिन ही अपूर्वा ने रोहित से इंदौर की एक एसेंबली कांस्टीट्यूएंसी से टिकट दिलवाने की मांग की। तब रोहित ने कहा कि अगर मैं इतना बड़ा आदमी होता तो खुद ही नहीं लड़ जाता। इसके बाद बौखलाई अपूर्वा रोहित के पीछे पड़ गई। 11 मई 2018 को रोहित और अपूर्वा की शादी हुई और 29 मई को ही अपूर्वा इंदौर चली गई। उसके बाद वो एक महीने बाद तब वापस लौटी जब कोर्ट खुला। उज्जवला बताती हैं कि कोर्टशिप के दौरान रोहित ने एक बार अपूर्वा से शादी करने तक से इनकार कर दिया था, तब हम रोहित के लिए दूसरी लड़की देखने लगे थे, लेकिन अपूर्वा के नाटक-दिखावे में आकर रोहित ने उससे शादी कर ली। अपूर्वा अक्सर रोहित को ‘मां का बेटा’ कहकर ताने मारा करती थी। वो रोहित पर लगातार दबाव बना रही थी कि वो अपनी फैमिली को छोड़ दे, लेकिन रोहित ऐसा नहीं चाहता था। बता दें कि 16 अप्रैल को यूपी उत्तराखंड के पूर्व सीएम एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई थी। पत्नी अपूर्वा पर रोहित की हत्या का आरोप है।


Uttarakhand News: warned Rohit but did not listened says ujjwala tiwari

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें