पहाड़ का दूल्हा और रूस की दुल्हन...गढ़वाली रीति रिवाज से हुआ शुभ विवाह

पहाड़ के प्रभात बिष्ट और रूस की एलेना बैशाखी के दिन परिणय सूत्र में बंध गए। ये जोड़ा जितना अजब है, उससे ज्यादा गजब है इनकी प्रेम कहानी...चलिए आपको सुनाते हैं.

PRABHAT BISHT AND ELENA WEDDING WITH GARHWALI CUSTOM - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, उत्तरकाशी, उत्तरकाशी न्यूज, उत्तरकाशी शादी, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Uttarkashi, Uttarkashi News, Uttarkashi marriag, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

भई पहाड़ी जो वादा करते हैं, उसे निभाते जरूर हैं। उत्तरकाशी के रहने वाले प्रभात बिष्ट ने भी रूस की रहने वाली एलेना से एक वादा किया था....वादा सात जन्म तक साथ निभाने का....हर सुख-दुख में साथ रहने का....अपने इसी वादे को निभाने और अपने रिश्ते को नया आयाम देने के लिए प्रभात बिष्ट ने बैशाखी पर्व के मौके पर रूस की रहने वाली एलेना संग ब्याह कर लिया। दोनों ने गढ़वाली रीति-रिवाज के साथ शादी की और इस शादी के गवाह बने भगवान काशी विश्वनाथ। उत्तरकाशी के काशी विश्वनाथ मंदिर में एलेना और ज्ञानसू के रहने वाले प्रभात बिष्ट पहाड़ी रीति रिवाज से परिणय सूत्र में बंधे। ये शादी लोगों के लिए बेहद अनोखी थी क्योंकि दूल्हा पहाड़ी और दुल्हन विदेश से आई थी, लेकिन कहते हैं ना कि प्यार में दूरियां कोई मायने नहीं रखतीं। देशों के बीच दूरियां हैं तो क्या...दिल तो करीब हैं। आइए अब आपको प्रभात और एलेना के रिश्ते के बारे में बता देते हैं।

यह भी पढें - पहाड़ का दूल्हा, चीन की दुल्हन..ऋषिकेश में वैदिक परंपरा से हुआ शुभ विवाह
प्रभात बिष्ट और एलेना बीके की प्रेम कहानी साल 2016 में दुबई में शुरू हुई। दोनों पिछले 3 सालों से दुबई के होटल में साथ में काम कर रहे थे, वहीं उनकी दोस्ती हुई और धीरे-धीरे ये दोस्ती प्यार में बदल गई। वक्त बीता तो दोनों ने शादी करने का फैसला लिया। शादी से पहले एलेना उत्तराखंड और यहां की संस्कृति को समझना चाहती थीं, इसके लिए वो कई बार उत्तरकाशी भी आईं और पहाड़ी रहन-सहन और रीति रिवाज को करीब से जाना। 12 अप्रैल को एलेना का परिवार उत्तरकाशी पहुंचा और इसके साथ ही शुरू हुईं शादी की रस्में....दोनों पक्षों ने 13 अप्रैल को अलग-अलग जगह मेहंदी समारोह आयोजित किया। 14 अप्रैल को प्रभात और एलेना ने भगवान काशी विश्वनाथ का आशिर्वाद लेकर एक-दूसरे का हाथ थाम लिया और जुड़ गए जन्म-जन्मांतर के बंधन में। दुल्हन पक्ष के परिजनों ने बारात का स्वागत गढ़वाली रीति रिवाज के साथ किया। इस दौरान एलेना के माता-पिता एवजीनि वेलचावर और वीरा वेलचावर ने गढ़वाली रीतरिवाज के साथ अपनी बेटी का कन्यादान किया। इस शादी समारोह में एलेना की दोस्त एरिना एल्टीमिनिका भी शामिल रहीं। शादी के जोड़े में एलेना बेहद खूबसूरत दिख रहीं थीं, पहाड़ी परंपराओं के लिए उनका ये प्रेम देख लोग भी अभिभूत थे। भई प्रभात और एलेना को हमारी तरफ से भी बधाई...उनका वैवाहिक जीवन सुखद हो।


Uttarakhand News: PRABHAT BISHT AND ELENA WEDDING WITH GARHWALI CUSTOM

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें