देवभूमि के लिए गौरवशाली पल, पहाड़ की बेटी को मिला नौसेना मेडल

उत्तराखंड के लिए ये खबर किसी गौरवशाली क्षण से कम नहीं है। असाधाराण काम कर दिखाने वाली बेटी वर्तिका जोशी को नौसेना मेडल से सम्मानित किया गया है।

Nao Sena medal awarded to Lt. Commander Vartika Joshi - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, वर्तिका जोशी, पौड़ी गढ़वाल, पौड़ी गढ़वाल न्यूज,Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Vartika Joshi, Pauri Garhwal, Pauri Garhwal, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

ये दिन उत्तराखंड के इतिहास में गौरवशाली क्षण के रूप में याद रखा जाएगा। मलरूप से पौड़ी गढ़वाले के धूमाकोट की बेटी वर्तिका जोशी को नैसेना मेडल से सम्मानित किया गया है। नौसेना में विशेष महत्व रखने वाले असाधारण साहस के लिए वर्तिका को ये सम्मान दिया गया है। सीधे शब्दों में कहें तो वर्तिका देश की पहली नेवी अफसर..जिसने सिर्फ एक नौका के सहारे अपनी टीम के साथ मिलकर 4 महाद्वीप, 3 समंदर और भूमध्य रेखा को पार कर दिया। इस वजह से उन्हें नौसेना मेडल से सम्मानित किया गया है। पिछले साल यानि कि 10 सितम्बर 2017 को यह सफर शुरू हुआ था। दुनिया का चक्कर लगाने के लिए हिंदुस्तान की 6 बेटियों ने अपना सफर शुरू किया था। ये सफर समंदर की लहरों को चीरते और पूरी दुनिया का चक्कर लगाकर वापस देश पहुंचा था। INVS तारिणी के जरिए भारतीय नौसेना की 6 बेटियों ने ये सफर शुरू किया था। नेवी ऑफिसर्स के इस दल की कमान लेफ्टिनेंट कमांडर वर्तिका जोशी संभाल रही थीं।

1/4 वर्तिका जोशी मूल रूप से पौड़ी से हैं
Nao Sena medal awarded to Lt. Commander Vartika Joshi one

इसके साथ ही आईएनएसवी तरिणी दुनिया का चक्कर लगाने वाला भारतीय नेवी का पहला ऐसा स्टाफ बन गया है जिसमें केवल महिलाएं हैं। वर्तिका जोशी मूल रूप से पौड़ी के धूमाकोट क्षेत्र के स्यालखेत गांव की हैं। वर्तिका के पिता प्रोफेसर पीके जोशी जी हैं, जो कि गढ़वाल विश्वविद्यालय में शिक्षा विभाग में कार्यरत हैं।

2/4 साल 2010 में वर्तिका नौ सेना अधिकारी बनी
Nao Sena medal awarded to Lt. Commander Vartika Joshi two

वर्तिका की मां अल्पना जोशी राजकीय महाविद्यालय ऋषिकेश में हिंदी की विभागाध्यक्ष है। साल 2010 में वर्तिका नौ सेना अधिकारी बनी। वर्तिका इससे पूर्व आईएनएसवी महादेई में भी ऐसा ही अभियान पूरा कर चुकी हैं।

3/4 विश्व-भ्रमण की ये यात्रा 253 दिनों में पूरी की
Nao Sena medal awarded to Lt. Commander Vartika Joshi three

भारतीय नौसेना के इस अभूतपूर्व अभियान को लेफ्टिनेंट कमांडर वर्तिका जोशी ने बखूबी लीड किया। नौसेना के इस दल की सदस्य लेफ्टिनेंट कमांडर प्रतिभा जामवाल, स्वाति पी, लेफ्टिनेंट ऐश्वर्या बोड्डापति, एस विजया देवी और पायल गुप्ता भी थीं। भारतीय नौसेना की इन जांबाज महिलाओं ने 55 फुट के ‘INSV तारिणी’ में अपनी विश्व-भ्रमण की ये यात्रा 253 दिनों में पूरी की है।

4/4 21,600 नॉटिकल मील की दूरी तय की
Nao Sena medal awarded to Lt. Commander Vartika Joshi four

लेफ्टिनेंट कमांडर वर्तिका जोशी के नेतृत्व वाले इस जाबांज महिला चालक दल ने इस दौरान फ्रेमांटले (ऑस्ट्रेलिया), लाइटिलटन (न्यूजीलैंड), पोर्ट स्टैनली (फॉकलैंड द्वीप), केप टाउन (दक्षिण अफ्रीका) और मॉरीशस में अपना पड़ाव डाला था। इस दौरान इन बहादुर बेटियों ने 21,600 नॉटिकल मील की दूरी तय की और INVS तारिणी ने दो बार भूमध्य रेखा, चार महाद्वीपों और तीन सागरों को पार किया।


Uttarakhand News: Nao Sena medal awarded to Lt. Commander Vartika Joshi

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें