देवभूमि में दहेज के दानव, दौलत के लिए भोली सी बिटिया को जान से मार डाला

उत्तराखंड से एक बेहद ही दुखद घटना सामने आ रही है। दहेज की खातिर एक फूल सी बेटी को मौत के घाट उतार दिया गया।

Girl murder in dehradun for dowry - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखँड न्यूज, देहरादून, देहरादून न्यूज, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Dehradun, Dehradun News, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

वास्तव में सवाल ये है कि आखिर कब तक ? कब तक दहेज की खातिर बेटियां यूं ही मौत के मुंह में समाती रहेंगी? लोग खामोश हैं...कुछ कहते नहीं? उस वक्त कहां चली जाती है मां की ममता ? उस वक्त कोई क्यों कुछ नहीं कहता...जब एक बेटी दूसरे घर में जाकर आखिरी सांसें गिन रही होती है? उस वक्त क्यों सभी की जुबान पर ताला लग जाता है? उस वक्त क्यों एक हैवान ये भूल जाता है कि वो भी एक मां की कोख से जन्मा है? उत्तराखड के देहरादून से सटे रायवाला में जो कुछ भी हुआ है...वो आंखों मे भी आंसू भर देता है और दिल में भी सिहरन भर देता है। अर्चना ने शायद ये कभी भी नहीं सोचा होगा कि उसके साथ जिंदगी में ऐसा घिनौना पाप होने जा रहा है। हम समाजसेवी रोशन रतूड़ी का बहुत धन्यवाद देना चाहते हैं, जो इस ज्वलंत खबर को हम सभी के बीच लेकर आए। कहानी ये है कि सात महीने पहले ही अर्चना के पिता ने अपनी बेटी को खुशी खुशी घर से विदा किया था। सात महीने बाद उसकी मौत की खबर आएगी...ये पिता ने सपने में भी नहीं सोचा था। आगे पढ़िए...

यह भी पढें - पहाड़ की बेटी को दहेज के दानवों ने मार डाला, पहले तीसरी मंजिल से फेंका..फिर जिंदा जलाया
अर्चना की शादी रायवाला चंद्रबदनी कालोनी निवासी अभिषेक चौहान से हुई थी। आरोप है कि दहेज ने ससुराल पक्ष के दिमाग में इतना लालच भर दिया कि उन्होंने जीते-जी अर्चना का मैौत दे दी। दहेज की मांग पूरी न होने पर ससुराल पक्ष ने अर्चना को 5 अप्रैल, 2019 को रात 8-9 बजे के करीब मौत के घाट उतार दिया। आपको जानकर हैरानी होगी कि इस हत्याकाण्ड में अर्चना का पति_अभिषेक, ससुर, सास और दो ननद पर गंभीर आरोप लगे हैं। लड़की के पिता यशपाल ने कहा है कि उनकी बेटी अर्चना की शादी 7 महीने पहले हुई थी। दो दिन पहले ही अर्चना की पंखे से झूल रही लाश को बरामद किया गया है। अर्चना के पति_अभिषेक, ससुर, सास और दो ननद इन सभी पर दहेज हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है । रोशन रतूड़ी कहते हैं कि अब बेटी बचाओ, बेटी_पढाओ का क्या करें? जब बेटियों के ये हत्यारे हमारे समाज में मौजूद हैं । आगे देखिए रोशन रतूड़ी की फेसबुक पोस्ट

आख़िर कब तक हमारी बहन-बेटियों की देहेज के लिए हत्या की जायेगी । कया बेटियों को समाज में खुशी से जीने का अधिकार नहीं है ।...

Posted by Roshan Raturi RR on Sunday, April 7, 2019


Uttarakhand News: Girl murder in dehradun for dowry

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें