Video: आज नया वाला गढ़वाली गीत देखिए, नए गीतकार ये जरूर सुनें

पुराना गीत गे कि तू लोगूं ते रिझांदी, मेरी भुली कंपोजीशन नूं की भी क्वे चीज होंदी। अटपटा जरूर लगेगा...मगर सच तो है...इसलिए आप इसे जरूर सुनिए

NEW GARHWALI Disstrack SONG - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, गढ़वाली गीत, कुमाऊंनी गीत, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Garhwali songs, Kumaon song, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

गीत गाइए...नया संगीत तैयार कीजिए...अच्छी बात है। लेकिन बार बार पुराने गीतों को गाकर आप एक सफल गायक नहीं बन सकते। अपनी कलम और अपने दिमाग की भी जरूरत होती है। जब तक आप नया नहीं लिखेंगे या फिर नया कुछ तैयार नहीं करेंगे, तो एक अच्छे गीतकार या संगीतकार नहीं बन सकते। ये गीत उन नए युवाओं के लिए एक सबक की तरह ही है, जो संगीत में अपना भविष्य तलाश रहे हैं। या सीधे शब्दों में कह दीजिए कि ये गीत उन युवाओं पर निशाना है...जो लगातार पुराने गीतों को रिपीट करने पर लगे हैं। गीत के जरिए समझाने की कोशिश की गई है कि ...भाई हाथ जोड़ कर अब तो कुछ नया कर लीजिए। पुराने गीतों की मिठास पुराने संगीत में ही है, उनसे छेड़छाड़ ना कीजिए। वास्तव में अपनी बोली से प्यार करते हैं तो कलम उठाइए और कुछ नया लिखिए। नरेंद्र सिंह नेगी जी से लेकर चंदर सिंह राही जी..हीरा सिंह राणा जी से लेकर गिरीश चंद्र तिवारी (गिर्दा) जी तक...इनके पास अपनी कलम की ताकत थी और याद रखिए तभी ये जन-जन को प्यारे हुए। वो कलम की ताकत ही थी कि आज तक उनके गीत गाए जाते हैं...तो आप उनसे क्या सीखे ? हासिल पाई जीरो ?

यह भी पढें - Video: सभी को पसंद आ रहा है ये नया पहाड़ी गीत, आप भी देखिए
इस गीत को तैयार करने वाली पूरी टीम को हमारी तरफ से हार्दिक शुभकामनाएं..कम से कम कुछ नया तो सुनने देखने को मिला। वास्तव में कटाक्ष का इससे बेहतर तरीका और कोई नहीं हो सकता। लीजिए आप भी सुन लीजिए

YouTube चैनल सब्सक्राइब करें -

Uttarakhand News: NEW GARHWALI Disstrack SONG

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें