उत्तराखंड के जवान ने तैयार किया देसी अंडर वाटर हुक, अब SDRF में होगा इस्तेमाल

उत्तराखंड के विकासनगर के SDRF सिपाही विक्रम सिंह ने एक ऐसा देसी अंडर वॉटर हुक तैयार किया है, जिसे एसडीआरफ पेटेंट करने जा रही है।

UTTARAKHAND JAWAN VIKRAM SINGH DESI UNDER WATER HOOK - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, उत्तराखंड एसडीआरएफ, उत्तराखंड पुलिस,Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Uttarakhand SDRF, Uttarakhand Police, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

अंडर वॉटर हुक क्या होता है, पहले ये जान लीजिए। एक ऐसा उपकरण, जिसे रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान इस्तेमाल किया जाता है। बहते पानी में अक्सर आपने एसडीआरएफ के जवानों को रेस्क्यू ऑपरेशन चलाते देखा होगा। इस दौरान आने वाली मुसीबतों से निपटने के लिए एसडीआरएफ को मददगार उपकरणों की जरूरत होती है। ऐसे में उत्तराखंड के विकासनगर के जवान विक्रम सिंह ने एक शानदार अंडर वॉटर हुक तैयार किया है। ये देसी अंडर वॉटर हुक कई मायनों में बाकी उपकरणों से खास है। इस वजह से इसका सफल परीक्षण देखने के बाद कमांडेंट तृप्ति भट्ट ने सिपाही विक्रम को ढाई हजार रुपये का पुरस्कार देकर सम्मानित किया। इसी दौरान उन्होंने कहा कि इस हुक को अब एसडीआरएफ पेटेंट भी कराएगा। इस हुक को एसडीआरएफ ने गंगा नदी, टौंस नदी समेत बाकी जगहों में भी गहरे पानी में ट्रायल किया। ये ट्रायल सफल रहा है और अब इस हुक को एसडीआरएफ अपने रेस्क्यू कार्य में शामिल करेगी। आपको इस हुक की खासियत बता देते हैं।

यह भी पढें - उत्तराखंड में बनेगा देश का पहला हाईटेक ट्रेनिंग सेंटर, तैयार है SDRF..जानिए खूबियां
इस हुक में वायर लगा है राफ्ट से संचालित होता है। खास बात ये है कि इसका संचालन मोटर और रिमोट से किया जाएगा। इसका वजन सिर्फ सात किलो है लेकिन ये 500 किलोग्राम वजन उठा सकता है। रिमोट के जरिए इस हुक का इस्तेमाल 100 मीटर की दूरी तक किया जा सकता है। सिपाही विक्रम सिंह आर्ट्स से ग्रेजुएट है। ITI करने बाद वो 2007 में पुलिस में भर्ती हुए थे। यहां उनकी तैनाती डीप डाइविंग टीम में हुई। वो बीते 11 सालों से पानी में रेस्क्यू कार्य में जुटे हैं। इसी दौरान उन्हें कई तरह के अनुभव भी मिले। कई बार ऐसा भी वक्त आता था कि रेस्क्यू टीम की दिनभर की मेहनत आखिरी वक्त में बेकार चली जाती थी। ऐसे में विक्रम के दिमाग में देसी अंडर वाटर हुक का ख्याल आया। आपको जानकर खुशी होगी कि विक्रम ने करीब 40 दिन के भीतर कुछ रुपये खर्च कर रिमोट और मोटर से चलने वाला हुक तैयार कर दिया है। विक्रम के हौसले बुलंद हैं...उनका कहना है कि अब वो पानी में संचालित ड्रोन और सोनार सिस्टम का विकल्प भी तैयार करेंगे।


Uttarakhand News: UTTARAKHAND JAWAN VIKRAM SINGH DESI UNDER WATER HOOK

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें