देवभूमि की मां धारी देवी..भव्य तरीके से तैयार हुआ है नया मंदिर...देखिए लेटेस्ट तस्वीरें

शक्तिपीठ मां धारी देवी में पूजा-अर्चना की विशेष मान्यता है। कहा जाता है कि यहां मां काली दिन के तीन पहरों में तीन रूप बदलती हैं। आइए आपको इस मंदिर की नई भव्य तस्वीरें दिखाते हैं।

DHARI DEVI NEW TEMPLE SRINAGAR GARHWAL - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, श्रीनगर गढ़वाल, धारी देवी, धारी देवी मंदिर,Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Srinagar Garhwal, Dhari Devi, Dhari Devi Temple, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

देवभूमि उत्तराखंड में मां आदिशक्ति का निवास है। यहां के शक्तिपीठ मां भगवती के शक्तिपुंज के रूप में पहचाने जाते हैं। श्रीनगर का मां धारी देवी मंदिर एक ऐसा ही अलौकिक धाम है, जिसे लेकर कई मान्यताएं प्रचलित हैं। कहते हैं कि इस चमत्कारी मंदिर में मां काली सुबह बाल रूप में रहती है, दोपहर को वो युवती और शाम को वृद्धा का रूप धारण करती है। मां के दर्शन के लिए यहां हर दिन श्रद्धालुओं का तांता लगा रहता है। इन दिनों मां धारी देवी के मंदिर का जीर्णोद्धार किया जा रहा है। जल विद्युत परियोजना मंदिर का निर्माण करा रही है। मंदिर का निर्माण कत्यूरी शैली में किया जा रहा है। जल्द ही श्रद्धालुओं को मंदिर का नया स्वरूप देखने को मिलेगा। मंदिर में देवदार की लकड़ी पर शिल्पकारी की उत्कृष्ट नक्काशी का नमूना देखने को मिलेगा। आगे देखिए भव्य तस्वीरें।

1/4 भव्य रूप में मां धारी देवी का मंदिर
ma dhari devi temple one

इस सिद्धपीठ को 'दक्षिणी काली माता' के रूप में पूजा जाता है।धारी देवी का मंदिर बदरीनाथ नेशनल हाईवे पर श्रीनगर से करीब 15 किलोमीटर दूर कलियासौड़ में अलकनन्दा नदी के किनारे स्थित है।

2/4 कत्यूरी शैली में तैयार हुआ है मंदिर
dhari devi temple new two

इस शक्तिपीठ का निर्माण 18वीं सदी में किया गया था। यहां दिन के अलग-अलग पहरों में माता के अलग-अलग रूपों के दर्शन होते हैं। मां धारी देवी के इस क्षेत्र में बसने की कहानी काफी पुरानी है।

3/4 पहाड़ की पारंपरिक शैली का इस्तेमाल
dhari devi temple new four

मां धारी देवी के दिन में तीन बार रूप बदलने की बात यहां के पुजारी भी मानते हैं। पुजारियों का कहना है कि मां के बदलते रूप को उन्होंने यहां खुद महसूस किया है।

4/4 जय मां धारी देवी
dhari devi temple five

कहते हैं कि पुराने समय में जब भी गांव पर कोई विपदा आने वाली होती थी तो मां धारी देवी गांव वालों को आवाज लगाकर उन्हें चेतावनी दिया करती थीं। आज भी इस मंदिर में पूजा करने का विशेष महत्व है। यहां मांगी हर मुराद मां भगवती जरूर पूरी करती हैं।


Uttarakhand News: DHARI DEVI NEW TEMPLE SRINAGAR GARHWAL

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें