गढ़वाल राइफल के मेजर अमित डिमरी को मिला शौर्य चक्र, 5 आतंकियों को मार गिराया था

मूल रूप से पीपलकोटी के रहने वाले मेजर अमित कुमार डिमरी को शौर्य चक्र से सम्मानित किया है। उत्तराखंड के लिए ये गौरवशाली पल है।

Amit dimri of garhwal rifle got shaurya chakra - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, अमित डिमरी, गढ़वाल राइफल, शौर्य चक्र, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Amit Dimari, Garhwal Rifles, Shaurya Chakra, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

उत्तराखंड गौरवशाली सैन्य परंपरा का साक्षी रहा है। देश सेवा का जज्बा यहां के युवाओं में कूट-कूटकर भरा है। इस समृद्ध गौरवशाली परंपरा में एक और सुनहरा अध्याय जुड़ गया है। मूलरूप से उत्तराखंड के रहने वाले मेजर अमित कुमार डिमरी को शौर्य चक्र गैलेंट्री अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है। ये केवल मेजर डिमरी का नहीं बल्कि हर देशवासी और उत्तराखंडी का सम्मान है। मेजर अमित कुमार डिमरी चमोली जिले के पीपलकोटी के रहने वाले हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में आयोजित सम्मान समारोह में मेजर अमित डिमरी को शौर्य चक्र से सम्मानित किया। मेजर अमित कुमार डिमरी 14 राष्ट्रीय राइफल का हिस्सा हैं। उन्होंने उत्तराखंड का मान बढ़ाया है। शौर्य चक्र मिलने पर उनके गांव गरुड़गंगा-पाखी में लोग बेहद खुश हैं। मेजर अमित डिमरी वर्तमान में जम्मू-कश्मीर में तैनात हैं। आगे जानिए उनकी जिंदगी की कहानी

यह भी पढें - उत्तराखंड शहीद सूर्यकांत: 11 साल के बेटे ने दी मुखाग्नि, होली से पहले गांव में मातम
डीबीएस कॉलेज देहरादून से अमित डिमरी ने अपनी पढ़ाई पूरी है। जिस दौरान वो कॉलेज में थे, तो एनसीसी के अंडर ऑफिसर थे। देश की सेना में जाने का जोश और जुनून उनके भीतर उस वक्त से ही उफान मारता था। कई मंचों पर देशभक्ति से लबरेज कवितापाठ भी कर चुके हैं और कॉलेज की तरफ से कई सांस्कृतिक गतिविधियों में सबसे आगे खड़े होते थे। वो पहाड़ के सामान्य परिवार से ही ताल्लुक रखते हैं और मूलरूप से चमोली जिले के रहने वाले हैं।डीबीएस कॉलेज से पासआउट होने के बाद उन्होंने अपना पूरा ध्यान सेना पर लगाया। इसके लिए वो दिन-रात मेहनत में जुटे। मेहनत का फल तब मिला, जब अमित डिमरी का सलेक्शन सीडीएस में हुआ। यहां से उनकी जिंदगी का सपना मानों पूरा हो गया। इंडियन मिलिट्री एकेडमी में खुद को तराशा और कड़ी ट्रेनिंग के बाद अंतिम पग भरा।

यह भी पढें - उत्तराखंड शहीद की पत्नी सेना में बनी अफसर, देश ने किया सलाम
आज जोशीमठ के पाखी गरुड़गंगा गांव के निवासी मेजर अमित डिमरी ने जम्मू कश्मीर में मुठभेड़ में अद्भुत वीरता का प्रदर्शन करते हुए 5 आतंकियों को ढेर किया था। जिसके लिए उन्हें शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया है। सैन्य बहुल प्रदेश उत्तराखंड में देश सेवा के लिए युवाओं मे जुनून है। यहां का हर परिवार किसी ना किसी तरह से सेना से जुड़ा हुआ है। सेना में भर्ती होने के लिए यहां के युवा जमकर तैयारी करते हैं और जब बात देश की आती है तो उसकी रक्षा के लिए जान की बाजी लगाने से भी पीछे नहीं हटते। मेजर अमित कुमार डिमरी भी पहाड़ की इसी गौरवशाली परंपरा को निभा रहे हैं। शौर्य चक्र मिलने पर उन्हें हार्दिक बधाई। राज्य समीक्षा की टीम की तरफ से भी मेजर अमित डिमरी को हार्दिक शुभकामनाएं। इसी तरह से देश का नाम रोशन करें।


Uttarakhand News: Amit dimri of garhwal rifle got shaurya chakra

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें