कैप्टन अमरिंदर: पंजाब के रण के लिए तैयार है ये महारथी... इस बार उम्मीदें डबल

कैप्टन अमरिंदर सिंह वो शख्स हैं, जिनकी वजह से कांग्रेस पंजाब जीती है। अब कैप्टन के कंधों पर एक बड़ी जिम्मेदारी है..

CAPTAIN AMRINDER SINGH TO LEAD CONGRESS IN PUNJAB - पंजाब, पंजाब न्यूज, लेटेस्ट पंजाब न्यूज, कैप्टन अमरिंदर, अमरिंदर सिंह, Punjab, Punjab News, Latest Punjab News, Capt Amarinder, Amarinder Singh, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

2017 ...पिछला विधानसभा चुनाव...जब पंजाब में आम आदमी पार्टी की लहर चल रही थी। बड़े बड़े दावे सर्वे के जरिए किए जा रहे थे कि पंजाब में AAP जीतेगी लेकिन इस बीच एक ऐसा शख्स था, जो चुपचाप अपने काम पर फोकस्ड था। काम में तल्लीन रहना शायद उस शख्स ने भारतीय सेना से सीखा था। जब रिजल्ट सामने आए, तो हर कोई हैरान था। पंजाब की जनता ने कैप्टन अमरिंदर के नेतृत्व वाली पंजाब कांग्रेस की झोली में 117 विधानसभा सीटों में से 77 सीटें डालीं। प्रमुख विरोधी अकाली-भाजपा गठबंधन महज 18 सीटों के साथ तीसरे स्थान पर खिसक गया। आम आदमी पार्टी को इस चुनाव में 20 सीटों पर ही संतोष करना पड़ा था। सही मायनों में कैप्टन अमरिंदर इस जीत के हीरो थे। 1965 की जंग के हीरो रहे कैप्टन पर पंजाब की जनता भरोसा करती है। इस बार लोकसभा चुनाव में पंजाब में कांग्रेस के मिशन 13 के रूप में उन्‍हें बड़ी चुनौती मिली है।

अब पंजाब में कांग्रेस की सरदारी का चैलेंज मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के सामने है। कांग्रेस ने राज्‍य की सभी 13 लोकसभा सीटें जीतने का लक्ष्‍य रखा है। ये बात हर कोई जानता है कि पंजाब में बीते 25 सालों में जब-जब पंजाब कांग्रेस की बात हुई होगी तो सबसे पहले कैप्टन अमरिंदर का ही चेहरा सामने आया। कैप्टन को पहली बार 1999 में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था। 2002 में भी कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के रूप विधानसभा चुनाव में उन्होंने अपनी भूमिका निभाई और 62 सीटें जीतकर पंजाब में सरकार बनाई। साल 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में कैप्टन को पटियाला से चुनाव लड़वाया जा रहा था, लेकिन अमृतसर से नवजोत सिद्धू की जगह अरुण जेटली को बीजेपी ने मैदान में उतारा. और फिर कांग्रेस हाई कमान ने भी कैप्टन को अरुण जेटली से लड़ने के लिए भेज दिया। ये कैप्टन ही थे जिन्होंने मोदी लहर के बावजूद जेटली को करारी शिकस्त दी।

इसके बाद आम लोगों से जुड़े SYL मुद्दे के चलते कैप्टन ने बीते साल अमृतसर की इस लोकसभा सीट से इस्तीफा दे दिया। कुल मिलाकर कहें तो पंजाब की सियासत में कैप्टन का चेहरा ही काफी है। इस बार भी बड़ी तैयारी है। ये वीडियो देखिए


Uttarakhand News: CAPTAIN AMRINDER SINGH TO LEAD CONGRESS IN PUNJAB

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें