लोकसभा चुनाव: ये है उत्तराखंड की सबसे हॉट सीट, इस बार रहेगी देशभर की नज़र

उत्तराखंड की पौड़ी लोकसभा सीट सबसे हॉट सीट मानी जा रही है। प्रदेश की सबसे बड़ी लोकसभा सीट में 14 विधानसभा क्षेत्र आते हैं।

hottest loksabha seat of uttarakhand pauri garhwal - देहरादून, पौड़ी गढ़वाल, बीजेपी उत्तराखंड, कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, लोकसभा चुनाव 2019, dehradun, pauri garhwal, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand, लोकसभा सीट, टिहरी सीट, नैनीताल सीट, पौड़ी सीट, अल्मोड़ा सीट, हरिद्वार सीट, भुवन चंद्र खंडूरी, गढ़वाल लोकसभा सीट, चमोली, गढ़वाल, नैनीताल, रुद्रप्रयाग, टिहरी गढ़वाल, बदरीनाथ, कर्णप्रयाग, थराली, रामनगर, चौबट्टाखाल, कोटद्वार, लैंसडाउन, पौड़ी, श्रीनगर, यमकेश्वर, केदारनाथ, रुद्रप्रयाग, देवप्रयाग, नरेंद्रनगर

लोकसभा के चुनावी महासंग्राम का ऐलान हो चुका है। बीजेपी ने पिछली बार की तरह इस बार भी उत्तराखंड की पांचों लोकसभा सीटों को फतह करने का दावा किया है। उत्तराखंड में टिहरी, नैनीताल, पौड़ी, अल्मोड़ा और हरिद्वार समेत पांच लोकसभा सीटें हैं। इनमें से जिस सीट पर सबकी निगाहें होंगी वो है पौड़ी गढ़वाल संसदीय सीट, जो कि उत्तराखंड के पांच जिलों को खुद में समेटे हुए है। ये उत्तराखंड की सबसे बड़ी लोकसभा सीट है, जो कि भौगोलिक लिहाज से काफी उतार-चढ़ाव से भरी है। पौड़ी लोकसभा सीट से इस समय भुवन चंद्र खंडूरी सांसद हैं, जो कि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री रह चुके हैं। कहा जा रहा है कि भुवन चंद्र खंडूरी ने बढ़ती उम्र और स्वास्थ्य कारणो की वजह से अगला लोकसभा चुनाव ना लड़ने की इच्छा जताई है, लेकिन बीजेपी के सूत्रों का कहना है कि पौड़ी से पार्टी इस बार भी उन्हीं पर दांव खेलेगी।

यह भी पढें - उत्तराखंड आने वाले हैं बीजेपी के दिग्गज, मोदी-शाह के साथ योगी भी उतरेंगे मैदान में!
पौड़ी लोकसभा क्षेत्र 16960.77 वर्ग किमी में फैला है। गढ़वाल लोकसभा सीट के तहत विधानसभा की 14 सीटें आती हैं। ये 14 सीटें उत्तराखंड के पांच जिलों चमोली, गढ़वाल, नैनीताल, रुद्रप्रयाग और टिहरी गढ़वाल में फैली हुई हैं। इस लोकसभा सीट के तहत आने वाली विधानसभा सीटों में बदरीनाथ, कर्णप्रयाग, थराली, रामनगर, चौबट्टाखाल, कोटद्वार, लैंसडाउन, पौड़ी, श्रीनगर, यमकेश्वर, केदारनाथ, रुद्रप्रयाग, देवप्रयाग और नरेंद्रनगर शामिल हैं। इसका सीधा मतलब ये है कि चुनाव मैदान में उतरने वाले प्रत्याशी को रामनगर के कार्बेट नेशनल पार्क से लेकर देश के आखिरी गांव माणा तक चुनाव प्रचार में जुटना होगा। गढ़वाल लोकसभा सीट 7 बार कांग्रेस के पास रही है तो 6 बार बीजेपी यहां काबिज रही। पिछले तीन लोकसभा चुनावों को देखें तो साल 2004 और 2014 में पौड़ी से बीजेपी के भुवनचंद्र खंडूड़ी को जीत मिली है, जबकि साल 2009 में यहां से कांग्रेस के सतपाल महाराज विजयी हुए थे। ये सीट सैन्य बहुल सीट है, जहां के ज्यादातर परिवार सैन्य पृष्ठभूमि से आते हैं।

यह भी पढें - उत्तराखंड में कितने वोटर? कितनी महिलाएं, कितने पुरुष मतदाता ?...2 मिनट में जानिए
चार धाम में से दो प्रमुख धाम बदरीनाथ और केदारनाथ भी इसी संसदीय सीट में आते हैं। इस सीट के अंतर्गत करीब 86 फीसद हिंदू, सात फीसद मुस्लिम, चार फीसद सिख और दो फीसद ईसाई मतदाता हैं। धर्म और पर्यटन यहां की जिंदगी के आधार है और इस पर्यटन का अस्तित्व यहां मौजूद दर्जनों तीर्थस्थल हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में इस सीट पर 12, 69, 083 मतदाता थे। पिछले आम चुनाव में यहां पुरुष मतदाताओं की संख्या 6 लाख 52 हजार 891 थी, जबकि महिला वोटर्स का आंकड़ा 6 लाख 16 हजार 192 था। यहां पर मतदान का प्रतिशत 53.74 रहा था। चुनाव आयोग के आंकड़ों की मानें तो साल 2017 के विधान सभा चुनाव में यहां मतदाताओं की संख्या बढ़कर लगभग 14 लाख हो गई थी।


Uttarakhand News: hottest loksabha seat of uttarakhand pauri garhwal

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें