देहरादून की सिटी बस में गुंडागर्दी…चलती गाड़ी से युवक को धकेला, गंभीर रूप से घायल

सवाल ये है कि आखिर देहरादून में सिटी बस संचालक किस गुंडागर्दी पर उतर आए हैं? ये खबर वास्तव में कई सवाल खड़े करती है।

City bus conductor pushes passenger out in dehradun - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, देहरादून, देहरादून न्यूज, देहरादून सिटी बस,Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Dehradun, Dehradun News, Dehradun City Bus, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

देहरादून से एक बड़ी खबर आ रही है, जो वास्तव में कई सवाल खड़े करती है। सवाल ये है कि क्या देहरादून में सिटी बस संचालक ऐसी गुंडागर्दी पर उतर आए हैं। बताया जा रहा है कि शुक्रवार को कांवली रोड पर चलती बस से कंडक्टर ने एक युवक को बाहर धक्का दिया। बस में सवार लोगों ने शोर मचाना शुरू किया, तो ड्राइवर और कंडक्टर बस छोड़कर भाग निकले। युवक गंभीर रूप से घायल है और उसे महंत इंदिरेश अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस का कहना है कि ये घटना शुक्रवार को हुई। प्रेमनगर-गुलरघाटी रूट की सिटी बस कांवली रोड से सहारनपुर चौक की तरफ जा रही थी। बल्लीवाला चौक के पास से खुड़बड़ा मोहल्ला के रहने वाले विक्की सवार हुए। बस में सवार होने के बाद कंडक्टर की विक्की से कहासुनी हो गई। अचानक कंडक्टर गुंडागर्दी पर उतर आया और लक्ष्मण चौक चौकी के सामने ही विक्की को धक्का देकर बस से बाहर फेंक दिया।

यह भी पढें - Video: कोटद्वार से बड़ी खबर..सिलेंडर से भरे ट्रक में लगी आग, धमाकों से गांवों में दहशत
विक्की के सिर का दायां हिस्सा सड़क पर जा लगा। बताया जा रहा है कि उनके कान का बाहरी हिस्सा कटकर लटक गया। उनके सिर और गाल पर भी गहरी चोट आई है। इसके बाद तो मौके पर बवाल मच गया। बवाल बढ़ने लगा तो कंडक्टर और ड्राइवर ने दोनों बीच सड़क पर सिटी बस छोड़कर भाग गए। लोगों ने तुरंत ही पुलिस को इस बात की खबर दी। इस बीच सड़क पर जाम लग गया और सिटी बस को हटाा गया। विक्की को पहले इलाज के लिए दून अस्पताल पहुंचाया गया। यहां प्राथमिक इलाज के बाद उन्हें महंत इंदिरेश अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस का कहना है कि सिटी बस को कब्जे में ले लिया गया है। बस मालिक को ड्राइवर और कंडक्टर के साथ चौकी में तलब किया गया है। अब ये भी जान लीजिए किस तरह से सिटी बस में गुंडागर्दी हो रही है। बसों में ड्राइवर और कंडक्टर को वर्दी पहनना जरूरी है लेकिन काफी बसों में ये वर्दी में नजर नहीं आते।

यह भी पढें - उत्तराखंड: यात्रियों के दल पर गुस्साए हाथी का हमला, युवक को पटक कर मार डाला
कई बसें ऐसी हैं जहां लोगों को टिकट नहीं दिया जाता है। बिना टिकट के बसों में मनमाना किराया वसूला जाता है। सिटी बसों में महिलाओं के लिए अलग केबिन की शुरुआत हुई थी लेकिन कई बसों में वो भी नज़र नहीं आते। 17 जुलाई 2018 को मसूरी रोड पर गुनियाल गांव में सिटी बस से गर्भवती महिला गिरी थी और उसकी मौत हो गई थी। 13 अगस्त 2018 को शिमला बाईपास रोड पर मां-बेटी को सिटी बस ने कुचला था। 13 जून 2018 को राजपुर रोड पर सिटी बस के ब्रेक फेल हुए, तो डाक्टर की कार से टक्कर मार दी थी। अब सवाल ये है कि आखिर कब तक सिटी बसों में इस तरह की लापरवाही और गुंडागर्दी देखने को मिलेगी। आखिर ऐसा कब तक चलेगा। आज देहरादून को स्मार्ट सिटी बनाने का सपना देखा जा रहा है लेकिन उससे पहले ही ऐसी खबरें शर्मसार करने का काम करती हैं।


Uttarakhand News: City bus conductor pushes passenger out in dehradun

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें