उत्तराखंड: IFS अफसर ने पेश की मिसाल, पुलवामा शहीदों के लिए दान किए 2.70 लाख रुपये

रेमन मैग्सेसे पुरस्कार की 14.23 लाख रुपये की धनराशि दान करने वाले IFS अफसर संजीव चतुर्वदेी ने इस बार पुलवामा के शहीदों के परिवार की आर्थिक मदद के लिए 2.70 लाख रुपये दान किए हैं।

IFS officer sanjeev chaturvedi donates 2.7 lacs to pulwama partyrs - पुलवामा शहीद, आईएफएस संजीव चतुर्वेदी, Pulwama Martyrs, IFS Sanjeev Chaturvedi, संजीव चतुर्वेदी, रमन मैग्सेसे अवार्ड, भारत का वीर, प्रधानमंत्री राहत कोष, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

देश की सेवा में अपना सबकुछ न्योछावर कर देने वाले शहीदों के बलिदान का कर्ज देश कभी चुका नहीं पाएगा। शहीदों के परिवार की मदद के लिए लोग बढ़-चढ़कर आगे आ रहे हैं और उनकी मदद कर रहे हैं। आईएफएस अधिकारी संजीव चतुर्वेदी ने भी पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों के परिजनों को 2.70 लाख रुपये की आर्थिक मदद देकर मिसाल पेश की है। ये धनराशि उन्हें ऑर्बिट्रेटर के तौर पर काम करने पर बतौर फीस मिली थी। आईएफएस अधिकारी संजीव इस धनराशि का बेहतर इस्तेमाल करना चाहते थे और उन्होंने ऐसा किया भी। फीस मिलते उन्होंने इसे शहीदों के परिजनों की मदद के लिए दान कर दिया। 2002 बैच के वन सेवा अधिकारी संजीव चतुर्वेदी को साल 2015 में रमन मैग्सेसे अवार्ड मिला था। उस वक्त भी उन्होंने पूरी धनराशि एम्स को दान कर दी थी।

यह भी पढें - Video: जांबाज अभिनंदन के मां-पिता का गर्मजोशी से स्वागत, वाघा बॉर्डर पर जश्न..देखिए
रैमन मैग्सेसे पुरस्कार की धनराशि गरीबों के इलाज पर खर्च होनी थी, लेकिन एम्स ने ये धनराशि स्वीकार नहीं की। बाद में संजीव चतुर्वेदी ने ये धनराशि प्रधानमंत्री राहत कोष में दान कर दी थी। हाल में ही सर्वोच्च न्यायालय द्वारा एक फरवरी को दिए गए निर्णय में इस प्रकरण का विस्तार से उल्लेख भी किया गया है। आपको बता दें कि चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड और एस फॉक्स कंस्ट्रक्शन कंपनी के बीच 6 करोड़ रुपये के ठेके को लेकर विवाद चल रहा था। इस विवाद के निपटारे के लिए चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड ने उत्तराखंड वन संरक्षक अनुसंधान पद पर तैनात आईएफएस अधिकारी संजीव चतुर्वेदी को जनवरी 2018 में मध्यस्थ नियुक्त किया था। ऑर्बिट्रेटर एक्ट के अनुसार मध्यस्थ की फीस और प्रशासनिक व्यय मिलाकर संजीव को लगभग 2.70 लाख का भुगतान किया जाना था।

यह भी पढें - पुलवामा का बदला..डोभाल, रावत और धस्माना की प्लानिंग...फिर हुई सर्जिकल स्ट्राइक
संजीव ने 23 फरवरी 2019 पारित अपने आदेश में मध्यस्थ के रूप में उनकी फीस और अन्य व्यय को केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से पुलवामा आतंकी हमले के शहीदों के परिजनों की सहायता के लिए खोले गए खाते में जमा कराने को कहा है। यह धनराशि अब गृह मंत्रालय की ओर से संचालित किए जा रहे 'भारत का वीर' खाते में जमा कराई गई है। आईएफएस संजीव चतुर्वेदी के इस कदम की हर कोई तारीफ कर रहा है। वो लोगों के लिए मिसाल बन गए हैं, उम्मीद है उनसे प्रेरणा लेकर दूसरे लोग भी शहीदों के परिवारों की मदद के लिए आगे आएंगे। वास्तव में ऐसे अफसरों को हम सलाम करते हैं, जो शहीदों के परिवारों के लिए एक कदम आगे बढ़कर मदद करते हैं। आईएफएस संजीव के इस बेहतरीन काम को हमारा सलाम है।


Uttarakhand News: IFS officer sanjeev chaturvedi donates 2.7 lacs to pulwama partyrs

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें