आयुष्मान उत्तराखंड: अब तक बने 25 लाख गोल्डन कार्ड, 11,000 मरीजों का फ्री में इलाज

अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना से जुड़े कुछ आंकड़े सामने आएं हैं। ये वास्तव में अपने आप में बड़ा रिकॉर्ड है।

ATAL AYUSMAAN YOJNA UTTARAKHAND TRIVENDRA SINGH RAWAT - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, त्रिवेंद्र सिंह रावत, त्रिवेंद्र सिंह रावत न्यूज, अटल आयुष्मान उत्तराखंड,Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Trivendra Singh Ra, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

अच्छे स्वास्थ्य का सपना...उत्तराखंड का ये सपना अगर सच हो रहा, तो काबिल-ए-तारीफ है। 25 दिसंबर को उत्तराखंड में हर परिवार के लिए सरकार द्वारा एक शानदार योजना लागू की गई थी। अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना। उत्तराखंड के 23 लाख परिवारों के लिए ये योजना किसी सौगात से कम नहीं। सरकार की तरफ से हर परिवार को सालाना 5 लाख इलाज का खर्च दिया जा रहा है। इसके साथ ही उत्तराखंड देश में पहला ऐसा राज्य बना है, जहां इस योजना को बेहद तेजी अंजाम तक पहुंचाने का काम किया जा रहा है। आपको जानकर हैरानी होगी कि दो महीने में करीब 25 लाख गोल्डन कार्ड तैयार किए जा चुके हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक स्टेट हेल्थ एजेंसी ने दावा किया है कि इनमें से 99 फीसदी गोल्डन कार्ड आधार से वैरीफाइड हैं। साथ ही रिपोर्ट ये भी कहती है कि अब तक इस योजना के तहत 11 हजार 422 मरीजों को इलाज मिल चुका है। अब सवाल ये है कि आखिर अब तक इसमें कितना खर्च हुआ है ? इस बारे में भी जानिए।

यह भी पढें - त्रिवेंद्र सरकार का बहुत बड़ा फैसला, सरकारी कर्मचारियों को मिली शानदार सौगात
बताया जा रहा है कि 11 हजार 422 मरीजों के इलाज पर अब तक 10 करोड़ 9 लाख से ज्यादा का खर्च हुआ है। खास बात ये है कि करीब 241 मरीज ऐसे भी हैं, जिन्हें उत्तराखंड से बाहर के अस्पतालों में भी इलाज का लाभ मिला। ज्यादातर मरीज ऐसे हैं, जिनका इलाज सरकारी अस्पतालों में हुआ है। 25 दिसंबर 2018 को अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना की शुरुआत हुई। उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दावा किया था कि उत्तराखंड के 23 लाख परिवारों को इस योजना के दायरे में शामिल किया जाएगा। इलाज के लिए उत्तराखंड में 165 से अधिक प्राइवेट और सरकारी अस्पतालों को सूचीबद्ध किया जा चुका है। योजना के तहत मरीजों को 1350 तरह की बीमारियों के इलाज की सुविधा मिल रही है। देखा भी जा रहा है कि गां-गाव तक लोगों में इस योजना को लेकर अलग ही उत्साह देखने को मिल रहा है।


Uttarakhand News: ATAL AYUSMAAN YOJNA UTTARAKHAND TRIVENDRA SINGH RAWAT

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें