उत्तराखंड की प्रोफेसर रुचिरा को सलाम, हर महीने सेना के खाते में भेजेंगी 5 फीसदी वेतन

देश की रक्षा और देश की सेना की बात आए तो...इस मामले में उत्तराखंड के लोग किसी से पीछे नहीं रहते। ऐसी ही हैं प्रोफ्सर रुचिरा तिवारी।

Story of professor richira tewary - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, उत्तराखंड शहीद, पुलवामा शहीद,Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Uttarakhand Shaheed, Pulwama Shaheed, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

सरहदों पर देश की रक्षा कर रहे जवानों को लेकर आजकल राजनीति अपने चरम पर है। इस वक्त अच्छा ये है कि राजनीति से इतर हम उन जवानों के बारे में सोचें , जो दिन रात देश की रक्षा के लिए सरहद पर तैनात रहते हैं। शायद इस वक्त मौका राजनीति का नहीं एक साथ मिलकर हाथ बढ़ाने का है। ऐसा ही एक संदेश दिया है उत्तराखंड की प्रोफेसर रुचिरा तिवारी ने। उत्तराखंड के पंतनगर विश्वविद्यालय की एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. रुचिरा तिवारी ने भारतीय सेना के जवानों के आर्थिक सहयोग के लिए एक शानदार पहल की है। डॉक्टर रुचिरा तिवारी हर महीने अपने वेतन में से 5 फीसदी राशि भारतीय सेना के खाते में भेजेंगी। सबसे बेहतर बात ये है कि ये सिलसिला रिटायरमेंट तक लता रहेगा। इसके अलावा इनके पति रजनीश भी हर महीने एक फीसदी वेतन भारतीय सेना के खाते में देंगे।

यह भी पढें - उत्तराखंड में शौर्य सम्मान..रक्षा मंत्री ने वीर नारियों के पैर छू कर दिया सम्मान..देखिये
इस पहल को रजनीश द्वारा ही शुरू किया गया था और इससे डॉक्टर रुचिरा को भी प्रेरणा मिली। प्रोफेसर रुचिरा ने 1994 में एमएससी किया था। इसके बाद वो 1996 से 1998 तक इबाराकी यूनिवर्सिटी जापान में रिसर्चर के पद पर रहीं। साल 2000 जनवरी के महीने में उन्होंने पंतनगर विवि से पीएचडी की और इसके बाद साल 2006 में इसी विश्वविद्यालय में वो असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर ज्वाइन हुईं। डॉक्टर रुचिरा कहती हैं कि सेना की वजह से देश के सभी लोग सुरक्षित जीवन जी रहे हैं। बहुत पहले से उनका मन भारतीय सेना की मदद करने का था, लेकिन उस वक्त उन्हें प्रक्रिया का सही तरह से पता नहीं था। आखिरकार अब पता चला तो उन्होंने तुरंत ही इस काम को कर दिया। डॉक्टर रुचिरा के पति डॉ. मनीष भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान नई दिल्ली में प्रिंसिपल साइंटिस्ट हैं।


Uttarakhand News: Story of professor richira tewary

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें