पौड़ी गढ़वाल के किसान ने उगाया 22 किलो का मूला, बन सकता है नेशनल रिकॉर्ड!

कल्जीखाल के किसान विद्यादत्त शर्मा ने खेती के लिए अपनी सरकारी नौकरी छोड़ दी। 83 साल में भी उनका जोश देखते ही बनता है।

STORY OF PAURI GARHWAL VIDHYADUTT SHARMA - उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, पौड़ी गढ़वाल, पौड़ी गढ़वाल किसान, विद्यादत्त शर्मा, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, Pauri Garhwal, Pauri Garhwal Farmer, Vi, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

ऐसे वक्त में जब लोग खेती-किसानी से मुंह मोड़ रहे हैं..ऐसे वक्त में पौड़ी गढ़वाल के कल्जीखाल के एक किसान ऐसे भी हैं, जिन्होंने खेती का शौक पूरा करने के लिए अपनी सरकारी नौकरी तक की परवाह नहीं की। दरअसल हम इन्हें सिर्फ किसान नहीं कहेंगे बल्कि ये अपने आप में कृषि वैज्ञानिक कहे जा सकते हैं। ये किसान हैं सांगुडा के रहने वाले 83 साल के विद्यादत्त शर्मा... हाल ही में उनके आवास पर महामूला रिकार्ड मूल्यांकन सम्मेलन और गोष्ठी का आयोजन हुआ। जिसमें किसान विद्यादत्त शर्मा द्वारा उगाए मूलों को खेतों से निकाला गया। इनमें सबसे अधिक वजन वाला 22 किलो 750 ग्राम का मूला भी है, 22 किलो से ज्यादा वजनी मूले को राष्ट्रीय रिकॉर्ड बताया जा रहा है। सीडीओ की अध्यक्षता में बनी कमेटी ने इस मूले का मूल्यांकन भी किया, ताकि इसे लिम्का बुक में जगह मिल सके। आप पहाड़ के इस मेहनती किसान की कहानी भी जानिए...

यह भी पढें - जनरल रावत ने देश को दिलाया भरोसा ‘हमारी तैयारी पूरी है..सेना का मनोबल ऊंचा है’
खेती के लिए विद्यादत्त शर्मा में कितना लगाव है, इसे आप यूं समझ सकते हैं कि किसान बनने के लिए उन्होंने अपनी सरकारी नौकरी तक छोड़ दी। उन्होंने साल 1965 में चकबंदी भू माप विशेषज्ञ के पद से इस्तीफा दे दिया था। नौकरी छोड़ने के बाद उन्होंने अपना पूरा ध्यान खेती पर लगाया और मोतीबाग नाम से बगीचा बनाया। इस बगीचे में मधुमक्खी पालन करने के साथ ही वो मटर, लहसुन, मूला समेत कई तरह की फसलें उगाते हैं। जिले में खेती को लेकर बेहतरीन काम करने पर उन्हें कई पुरस्कार दिए जा चुके है। उन्होंने कृषि से लेकर विभिन्न विषयों पर 8 किताबें भी लिखी हैं। 83 साल की उम्र में भी उनका जोश देखते ही बनता है...उन्होंने युवाओं और महिलाओं से भी कृषि को अपनाने का आह्वान किया। इस मौके पर गोष्ठी का भी आयोजन किया गया, जिसमें खेती-किसानी पर चर्चा हुई। पौड़ी विधायक मुकेश कोली ने भी किसान विद्यादत्त शर्मा के कार्यों की सराहना की।


Uttarakhand News: STORY OF PAURI GARHWAL VIDHYADUTT SHARMA

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें