धन्य हैं विंग कमांडर अभिनंदन, पाकिस्तानी मीडिया ने भी किया शौर्य को सलाम

भारतीय पायलट अभिनंदन अब स्वदेश लौटेंगे। लेकिन उनके साहस और हौसले ने दुश्मनों को भी उनकी तारीफ करने पर मजबूर कर दिया है।

abhinandan story of pakistan - अभिनंदन, abhinandan, विंग कमांडर अभिनंदन, wing commander abhinandan, भारतीय सेना, उत्तराखंड, उत्तराखंड न्यूज, लेटेस्ट उत्तराखंड न्यूज, Uttarakhand, Uttarakhand News, Latest Uttarakhand News, uttarakhand, uttarakhand news, latest news from uttarakhand

धन्य है वो भारत भूमि जहां पायलट अभिनंदन जैसे जांबाज जन्म लेते हैं। देशभर में भारतीय वायुसेना के पायलट अभिनंदन की सकुशलता के लिए दुआएं मांगी गई और ये कबूल भी हुईं। मुश्किल की घड़ी में भी उन्होंने जिस धैर्य और साहस का परिचय दिया है, उसे देख दुश्मन भी अभिनंदन का वंदन करने पर मजबूर हो गए हैं। पाकिस्तान के सभी प्रमुख अखबारों में पायलट अभिनंदन के साहस के किस्से सुर्खियों में शुमार हैं। पाकिस्तानी अखबारों की रिपोर्ट में भी विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की बहादुरी का लोहा माना गया। पाकिस्तान के बड़े अखबार डॉन में एक पूरी रिपोर्ट छपी है। इसमें लिखा गया है कि भारतीय वायुसेना के पायलट ने पकड़े जाने के बावजूद भी अपनी वीरता और साहस का परिचय दिया। जब उनका विमान पाकिस्तान में गिरा तो वो घबराए नहीं, बल्कि धैर्य से काम लिया। पाकिस्तानी अखबार डॉन लिखता है कि ‘LoC के पास रह रहे सोशल एक्टिविस्ट 58 साल के मोहम्मद रज्जाक चौधरी ने आसमान में किसी धमाके की आवाज को सुना। जब वो मौके पर पहुंचे तो एक एयरक्राफ्ट में आग लगी हुई थी’। आगे पढ़िए...

यह भी पढें - बड़ी खबर: विंग कमांडर अभिनंदन को कल रिहा किया जाएगा- इमरान खान
आगे लिखा गया है कि ‘रज्जाक ने एक पैराशूट को जमीन पर उतरते देखा। पायलट अभिनंदन पैराशूट से एक तालाब में कूदे और कुछ दस्तावेज और मैप्स निगलने की कोशिश की। रज्जाक कहते हैं कि भारतीय पायलट बिल्कुल शांत नजर आ रहा था, उसकी आंखों में डर का नामों निशान तक नहीं था। अभिनंदन के पास पाकिस्तान के लोगों की भीड़ जुट गई, जिनसे अभिनंदन ने पूछा कि वो भारतीय जमीन पर हैं या पाकिस्तान में...इस सवाल के जवाब में एक बच्चे ने चालाकी दिखाते हुए कहा कि वो भारत में ही हैं। पायलट अभिनंदन ने ये सुनते ही वहां नारे लगाए। अभिनंदन के देशप्रेम भरे नारे सुन कुछ पाकिस्तानी युवाओं का खून खौल उठा....उन्होंने पाकिस्तान आर्मी जिंदाबाद का नारा लगा दिया...तब अभिनंदन की समझ में आया कि वो पाकिस्तान में हैं’’। आगे पढिए...

यह भी पढें - शहीद मेजर चित्रेश के पिता ने वायुसेना को सलाम किया.. सर्जिकल स्ट्राईक पर कही बड़ी बात
आगे लिखा गया है कि ‘दुश्मन देश की जमीन पर होने के बाद भी अभिनंदन डरे नहीं और हवा में फायरिंग कर दी। दरअसल पाकिस्तान के लोग उनके सामने हाथों में पत्थर लिए खड़े थे, उन्हें डराने के लिए ही अभिनंदन को फायरिंग करनी पड़ी। इस मुश्किल परिस्थिति में भी अभिनंदन ने साहस बनाए रखा और पाकिस्तान के आम नागरिकों की सुरक्षा का भी ध्यान रखा। वो एक तालाब में कूदे और अपने पास मौजूद डॉक्यूमेंट्स नष्ट करने की कोशिश की, ताकि पाकिस्तानी सेना के हाथ कुछ ना आ पाए’’। पाकिस्तान की तरफ से पायलट अभिनंदन का जो वीडियो जारी किया गया है, उसमें अभिनंदन घायल दिख रहे हैं, लेकिन उनके चेहरे पर वही हिम्मत नजर आती है जो देश की सेवा के लिए अपना सबकुछ न्योछावर कर देने वाले सैनिक के चेहरे पर दिखती है। धन्य हैं पायलट अभिनंदन जैसे सपूत, जिनके साहस और हौसले का लोहा दुश्मन भी मान रहे हैं।


Uttarakhand News: abhinandan story of pakistan

Content Disclaimer (Show/Hide)
लेख शेयर करें